तबरेज अंसारी मामले में आरोपियों को क्लीनचिट देने की तैयारी !

रांची। झारखंड के सराय केला में भीड़ द्वार पीट पीट कर मार दिए गए तबरेज अंसारी मामले में पुलिस आरोपियों को क्लीन चिट देने की तैयारी कर रही है। पुलिस द्वारा 29 जुलाई को कोर्ट में दी गयी चार्जशीट में आरोपियों से ह्त्या का आरोप हटा लिया गया है।

सारे मामले पर नज़र डालें तो लगता है जैसे तबरेज अंसारी मॉब लिंचिंग मामले में पुलिस ने शुरू से ही आरोपियों पर शिकंजा ढीला कर दिया था। तबरेज अंसारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में भी दिखाया गया है कि तबरेज की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई थी।

इस मामले में तबरेज केस के वकील अल्ताफ हुसैन ने सवाल उठाये हैं। उन्होंने कहा कि भीड़ द्वारा पिटाई करने की वजह से तबरेज के सिर पर घाव बन गया था। ऐसे में यह कैसे कहा जा सकता है कि तबरेज की मौत दिल का दौरा पड़ने से ही हुई थी ?

एडवोकेट अल्ताफ हुसैन इस मामले की जांच पर पहले से ही सवाल उठा रहे हैं। वे पुलिस जांच से संतुष्ट नहीं हैं। उन्होंने 31 अगस्त को कोर्ट में एक विरोध याचिका भी दाखिल की थी। उनका कहना है कि पुलिस अपनी लापरवाही को छिपाने के साथ आरोपियों को बचाने के लिए ‘कार्डियक अरेस्ट’ शब्द का इस्तेमाल कर रही है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें