झूठा साबित हुआ पीएम मोदी का आरोप, पूर्व नौसैना अधिकारियों ने बताया बकवास

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा दिया गया बयान झूठा साबित हुआ है। गौरतलब है कि पीएम मोदी ने एक चुनावी सभा में आरोप लगाया था कि पूर्व पीएम राजीव गांधी ने छुट्टियां मनाने के लिए आईएनएस विराट को टेक्सी की तरह इस्तेमाल किया था।

पीएम नरेंद्र मोदी के आरोपों को नौसेना अधिकारीयों से सच्चाई से परे बताते हुए इसे झूठा और बकवास करार दिया है। पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल एल रामदास ने कहा कि राजीव गांधी छुट्टी पर नहीं बल्कि आधिकारिक यात्रा पर थे। पूर्व नौसैनिक अधिकारी ने कहा कि राजीव गांधी तत्कालीन पीएम थे इसलिए वो आईलैंड विजिट के लिए गए थे।

एक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए एडमिरल रामदास ने कहा कि “प्रधानमंत्रीअपनी पत्नी के साथ जाते हैं, अभी जो कहा जा रहा है कि उनके साथ राहुल भी थे, हम तो इतने व्यस्त थे कि हमने देखा भी नहीं। प्रधानमंत्री पहली बार युद्धपोत पर गए थे, वो प्रधानमंत्री थे और ये उनका अधिकार है कि वो सैन्य सामिग्री और व्यवस्था को देखें।”

उन्होंने कहा कि “नौसैनिक जहाज, रेजीमेंट, स्वाक्वाड्रन, एयरक्राफ्ट को देखना पीएम का विशेषाधिकार है। राजीव गांधी पर पहला आरोप कि उन्होंने विराट का गलत इस्तेमाल किया, मैं साफ बता दूं कि ये सरासर गलत है। सारे आरोप जुमला और बकवास हैं, उन्होंने आईलैंड पर जाने के लिए सिर्फ हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल किया। वो आईलैंड पर विकास की तैयारियां देखने गए थे।”

वहीँ पीएम मोदी के बयान पर तत्कालीन आईएनएस विराट के कमांडिंग ऑफिसर विनोद पसरीचा ने भी पीएम मोदी के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि राजीव गांधी आधिकारिक दौरे पर लक्षद्वीप गए थे. उनके साथ उनका परिवार भी था. कोई पार्टी विराट पर नहीं हुई थी और ना ही अमिताभ बच्चन और कोई इटली के रिश्तेदार उस दौरान वहां मौजूद थे।

क्या कहा था पीएम मोदी ने:

गौरतलब है कि दिल्ली के रामलीला मैदान में एक चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर युद्धपोत का आईएनएस विराट को ‘निजी टैक्सी’ की तरह इस्तेमाल करने का आरोप लगाया था।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि राजीव गांधी के कार्यकाल के दौरान त्कालीन सरकार और नौसेना ने उनके परिवार और ससुराल पक्ष की मेजबानी की और उनकी सेवा में एक हेलिकॉप्टर को लगाया गया था।

इतना ही नहीं पीएम मोदी ने आरोप लगाया था कि ”आईएनएस विराट उस समय समुद्री सीमाओं की रखवाली के लिए तैनात था लेकिन उसे छुट्टियां मनाने जा रहे गांधी परिवार को लेने के लिए भेज दिया गया। उसके बाद उनके पूरे कुनबे को लेकर आईएनएस विराट एक ख़ास द्वीप पर रुका….10 दिन तक रुका रहा।”

पीएम मोदी ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि छुट्टियां मनाने के लिए पूर्व पीएम राजीव गांधी की ससुराल इटली के लोग भी आये थे। उन्होंने सवाल किया कि क्या विदेशो लोगों को वारशिप पर ले जाना देश की सुरक्षा से खिलवाड़ है अथवा नहीं?

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें