जो विवाह न करें उनको मिले सम्मान, दो से ज़्यादा बच्चे पैदा करने पर खत्म हो मताधिकार

नई दिल्ली। खुद के योग गुरु होने का दावा करने वाले बाबा रामदेव ने अजीबो गरीब तर्क दिया है। रामदेव ने कहा कि जो विवाह न करें उन्हें विशेष सम्मान मिलना चाहिए और जो दो बच्चो से ज़्यादा पैदा करें उनका मताधिकार खत्म कर देना चाहिए।

रविवार को रामदेन ने कहा, ‘इस देश में जो हमारी तरह से विवाह न करे उनका विशेष सम्मान होना चाहिए, और विवाह करे तो 2 से ज्यादा संतान पैदान करे तो उसका मतदान का अधिकार नहीं होना चाहिए।

रामदेव ने कहा कि यह एक राजनीतिक मुद्दा है। लेकिन भारतीय ज्ञान परंपरा में जब जनसंख्या कम थी तो ज्यादा संतानें पैदा करने की बात की गई। 10 बच्चों तक पैदा करने की बात भी हुई।

उन्होंने कहा कि जिनका सामर्थ्य हो, वो कर लें, लेकिन एक-दो बच्चे हमको भी दे देना। रामदेव ने कहा कि भले ही वोट के जरिए हम पॉलिटिकल लीडरशिप का चयन करते हैं लेकिन एक विवेकशील पुरुष या फिर महिला हजारों लाखों, करोड़ों पर भारी पड़ती है।

गौरतलब है कि बाबा रामदेव ने 2014 में बीजेपी के पक्ष में चुनाव प्रचार किया था। उन्होंने दावा किया था कि मोदी सरकार केंद्र में आयी तो विदेशो से काला धन वापस आएगा। इतना ही नहीं बाबा रामदेव ने एक टीवी कार्यक्रम में कहा था कि विदेशो से काला धन वापस आने पर देश में पेट्रोल की कीमत 30 रुपये लीटर हो जाएगी।

रामदेव ने 2014 में मोदी सरकार को लेकर जितने भी दावे किये थे फिलहाल वे सभी दावे एक एक कर मूँह के बल गिर रहे हैं। न विदेशो से काला धन वापस लाने में कोई प्रगति हुई और न ही पेट्रोल सस्ता हुआ। इसके पलट देश के कुछ कारोबारी बैंको का पैसे लेकर विदेश भाग गए और पेट्रोल डीजल की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुँच गयीं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें