जेएनयू ने रद्द की स्वामी की राम मंदिर पर चर्चा

नई दिल्ली। 6 दिसंबर को बाबरी मस्जिद के विध्वंश की 25 वीं बरसी पर अयोध्या में राम मंदिर पर आयोजित एक परचर्चा को जवाहर लाल नेहरू विश्वविधालय (जेएनयू) ने रद्द कर दिया है। इस परिचर्चा में बीजेपी नेता सुब्रमणियम स्वामी भाग लेने वाले थे।

परिचर्चा के रद्द होने पर नाराज़ हुए सुब्रमणियम स्वामी ने कहा कि “मैंने जेएनयू में लेक्चर देने के लिए कोई आवेदन नहीं किया था। मेरा लेक्चर क्यों कैंसिल किया गया, उसका जवाब वही लोग दे सकते हैं।

राम मदिर निर्माण को लेकर आयोजित कार्यक्रम रद्द होने पर नाराजगी जाहिर करते हुए सुब्रमण्यन स्वामी ने कहा है कि वामपंथी लोग हमें इनटॉलेरेंस का पाठ पढ़ाते थे, अब उनको जवाब देना चाहिए।

जेएनयू के कोएना हॉस्टल के सीनियर वार्डन ने इस कार्यक्रम को रद्द करने के संबंध में लेटर जारी किया था। हालांकि जेएनयू में भीमराव अंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस और बाबरी मस्जिद विध्वंस की 25वीं सालगिरह के मौके पर एक और कार्यक्रम आयोजित किया गया है।

जेएनयू स्टूडेंट यूनियन की तरफ से साबरमती मेस में आयोजित इस कार्यक्रम में लेफ्ट नेता प्रकाश करात और AIPWA की सचिव कविता कृष्णन हिस्सा लेने वाली थीं।

इससे पहले जेएनयू के कोएना हॉस्टल के सीनियर वार्डन ने एक लेटर के जरिए कार्यक्रम के आयोजकों को बताया कि प्रशासन ने कोयना हॉस्टल में यह चर्चा कार्यक्रम न करने का फैसला लिया है। आज रात 9:30 बजे होने वाला डॉ. स्वामी का कार्यक्रम रद्द किया जाता है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें