जावेद अख्तर की खरी खरी: श्री श्री का बयान सुप्रीमकोर्ट, देश और जनता का अपमान

नई दिल्ली। प्रसिद्द गीतकार जावेद अख्तर ने आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर द्वारा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर दिए गए सीरिया वाले बयान पर सख्त मिजाज में टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि श्रीश्री ने सुप्रीम कोर्ट, सरकार और भारत के नागरिकों का अपमान किया है।

गौरतलब है कि श्री श्री रविशंकर ने कहा था कि अगर अयोध्या में राम मंदिर बनाने में किसी प्रकार की भी देरी की गई तो देश में सीरिया सरीखी स्थिति पैदा हो सकती है। अयोध्या मुस्लिमों का धार्मिक स्थल नहीं है। मुस्लिमों को इस पर अपना दावा छोड़ कर नजीर पेश करनी चाहिए।

श्री श्री रविशंकर के बयान पर नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए जावेद अख्तर ने ट्विटर पर कहा कि श्रीश्री रविशंकर ने यह दावा कर सुप्रीम कोर्ट का अपमान किया है कि उसके फैसले को भारतीय स्वीकार नहीं करेंगे।

जावेद अख्तर ने कहा कि श्री श्री रविध्नकर ने यह कहकर भी वर्तमान सरकार का अपमान किया है कि वह अपनी निगरानी में किसी गृह युद्ध की प्रतीक्षा कर रही है। उन्होंने यह आरोप लगाते हुए हम भारतीयों का भी अपमान किया है कि हम भारत को सीरिया में तब्दील कर देंगे।

जावेद अख्तर से सख्त रुख दिखाते हुए कहा कि “मैं सार्वजनिक तौर पर मुस्लिम प्रतिक्रियावादी लोगों का खुलकर विरोध करता रहा हूं। ऐसा शाह बानो केस के दिनों से है। फतवा जारी किए जाने और धमकियां मिलने के बाद भी मैं हर किस्म के कट्टरपंथियों का विरोध करता हूं। मुस्लिम और हिंदू, दोनों ही धर्मों के कट्टरपंथी कई बार मेरे पुतले तक जला चुके हैं। यह मेरे लिए गर्व की बात है।”

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें