जम्मू-कश्मीर: कई हिस्सों में फिर बहाल हुई इंटरनेट और लैंडलाइन सेवा

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के दौरान बंद हुई इंटरनेट और लैंडलाइन सेवा शनिवार से बहाल कर दी गयी है। राज्य के कई हिस्सों में शनिवार सुबह से 2जी इंटरनेट सर्विस और लैंडलाइन सेवा को शुरू कर दिया गया है।

इससे पहले मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रह्मण्यम ने शुक्रवार को बताया कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में तेजी से हालात बदल रहे हैं। घाटी में शनिवार को ज्यादातर फोन बहाल कर दिए जाएंगे जबकि स्कूल-कॉलेज सोमवार से खुलेंगे।

संचार सेवा की बहाली को गंभीर मुद्दा मानते हुए उन्होंने कहा, चरणबद्ध तरीके से इसे बहाल किया जाएगा। आतंकी संगठनों की ओर से मोबाइल फोन का उपयोग कर आतंकी गतिविधियों को अंजाम दिए जाने के खतरे के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है। बीएसएनएल की ओर से अब एक्सचेंज वार इसकी बहाली शुरू कर दी गई है।

मुख्य सचिव ने बताया कि 22 में से 12 जिलों में स्थिति पूरी तरह से सामान्य है। पांच जिलों में एहतियातन रात की पाबंदियां हैं। संबंधित क्षेत्रों में पाबंदियां हटाने के साथ ही सार्वजनिक वाहन भी चलाने की अनुमति दी गई है।

गौरतलब है कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद घाटी में हिंसा की आशंकाओं के बीच केंद्र सरकार ने मोबाइल इंटरनेट और मोबाइल सेवा बंद करने का फैसला किया था। शनिवार को कश्मीर घाटी के 50 हजार लैंडलाइन कनेक्शन भी शुरू कर दिए गए है साथ ही 17 एक्सचेंज में लैंडलाइन सेवाएं भी शनिवार को बहाल कर दी गईं हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिविल लाइन्स क्षेत्र, छावनी क्षेत्र, श्रीनगर जिले के हवाई अड्डे के पास है. मध्य कश्मीर में बडगाम, सोनमर्ग और मनिगम में लैंडलाइन सेवाएं बहाल की गई हैं। वहीं, उत्तर कश्मीर में गुरेज, तंगमार्ग, उरी केरन करनाह और तंगधार इलाकों में सेवाएं बहाल हुई हैं। दक्षिण कश्मीर में काजीगुंड और पहलगाम इलाकों में भी सेवाएं बहाल की गई हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें