जनाक्रोश रैली में बोले शिवपाल “56 इंच वाले में नहीं है दम”

लखनऊ। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने राम मंदिर निर्माण को लेकर एक बार फिर अपने पुराने बयान को दोहराया है। लखनऊ में पार्टी की जनाक्रोश रैली को सम्बोधित करते हुए शिवपाल ने कहा कि किसी भी तरह सुप्रीमकोर्ट की अवहेलना नहीं होनी चाहिए।

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण अवश्य होना चाहिए लेकिन विवादित भूमि पर राम मंदिर का निर्माण नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या में सरयू नदी के किनारे कहीं भी जगह मिल सकती है। यहाँ सरकार पर काफी ज़मीन है।

उन्होंने कहा कि मेरा सीधा कहना है कि किसी भी हाल में उच्चतम न्यायलय की अवहेलना नहीं होनी चाहिए। शिवपाल ने केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की योगी सरकार के अलावा बीजेपी पर भी सीधा निशाना साधा।

शिवपाल ने कहा कि वर्ष 1992 में तत्कालीन भाजपा सरकार द्वारा सुरक्षा की गारंटी का हलफनामा देने के बावजूद बाबरी मस्जिद को तोड़ दिया गया था। वह देश में फिर से वैसी ही आग फैलाना चाहती है। हम और नेता जी (मुलायम सिंह यादव) मुसलमानों के साथ खड़े हैं।

शिवपाल ने कहा कि बीजेपी ने देश को कमज़ोर किया है और वह अपने सियासी फायदे के लिए देश में दंगे करवाना चाहती है। उन्होंने कहा कि हम देश में भाईचारा चाहते हैं। शिवपाल ने कहा कि हम बीजेपी को प्रदेश और देश दोनों जगह से हटाएंगे।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज करते हुए कहा ‘‘आप का सीना 56 इंच का होगा लेकिन उसमें दम नहीं है। बड़े-बड़े वायदे हुए कि मैं चौकीदार हूं, इस देश में भ्रष्टाचार नहीं होने दूंगा, मगर वह सब धोखा था। भगोड़े कारोबारी बैंकों के हजारों करोड़ रुपए लेकर भाग गए। यह चौकीदार का भ्रष्टाचार नियंत्रण में फेल होने का सबसे बड़ा उदाहरण है।’’

शिवपाल की रैली में समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और उनके बेटे की बहु अपर्णा यादव भी भी शामिल हुईं। शिवपाल ने मुलायम सिंह यादव की तरफ देखते हुए कहा कि उन्होंने नई पार्टी मुलायम की सहमति से बनाई है, हम हमेशा सपा में नेता जी के साथ ही रहना चाहते थे। उन्होंने कहा कि मैंने नेताजी से कभी कुछ नहीं माँगा। मुख्यमंत्री पद तो छोड़िये कभी मंत्री पद भी नहीं माँगा। मैंने सिर्फ सम्मान माँगा है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें