जदयू की बैठक में फैसला, एनडीए नहीं छोड़ेंगे नीतीश

नई दिल्ली । जनता दल यूनाइटेड की आज हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में फैसला लिया गया कि अभी जनता दल यूनाइटेड एनडीए के साथ बना रहेगा। बैठक में आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनाव समेत विभिन्न मुद्दों पर अपनी पार्टी की स्थिति को लेकर विचार विमर्श किया।

जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक से पहले नीतीश कुमार ने पार्टी नेताओं के समक्ष साफ किया कि दोनों दलों के बीच गठबंधन बरकरार रहेगा। वहीं, अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पार्टी ने 17-17 सीटों पर लड़ने का फॉर्मूला दिया है।

इससे पहले इस तरह की अटकलें लगायी जा रही थी कि नीतीश कुमार की अगुवाई वाली पार्टी राजद और कांग्रेस के साथ अपने गठबंधन की संभावनाओं पर विचार कर सकती है। इन सब अटकलो को ख़ारिज करते हुए जदयू की आज हुई बैठक में एनडीए के साथ जुड़े रहने के निर्णय पर मुहर लग गयी है।

बैठक में शामिल अधिकांश नेता नीतीश कुमार के इस प्रस्ताव से सहमत थे कि बिहार में भाजपा के साथ गठबंधन बरकरार रहना चाहिए। हालांकि, इस दौरान यह भी तय किया गया कि बिहार के बाहर भी पार्टी अपना विस्तार जारी रखेगी।

गौरतलब है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह 12 जुलाई को पटना आ रहे हैं। ऐसे में जदयू की इस बैठक के बाद नीतीश कुमार की अमित शाह के साथ होने वाली मुलाकात को भी अहम माना जा रहा है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें