जजों के मामले में चली शॉटगन, कहा “अच्छे दिनों की जगह ये कौन से दिन आ रहे हैं”

नई दिल्ली। सुप्रीमकोर्ट के चार न्यायाधीशों द्वारा कल प्रेसकॉन्फ्रेंस कर उठाये गए सवालो पर आज बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने पूछा कि ये अच्छे दिनों की जगह कौन से दिन आ रहे हैं।

ट्विटर पर शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि सम्माननीय सर, क्या हो रहा है ? ये अच्छे दिनों की जगह कौन से दिन आ रहे हैं ? जज न्याय मांग रहे हैं, न्याय देने वाले ही न्याय के लिए गुहार लगा रहे हैं। इससे लगता है कि मामला गंभीर है और सब कुछ ठीक नहीं है।

शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने अगले ट्वीट में आधार डाटा की सुरक्षा और ग्रामीण इलाको में कमज़ोर मोबाईल नेटवर्क का मामला भी उठाया। गौरतलब है कि कल सुप्रीमकोर्ट के चार जजों ने सामूहिक रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि “सुप्रीम कोर्ट में सब कुछ ‘‘सही नहीं चल रहा है और बहुत सी ऐसी चीजें हुई हैं जो नहीं होनी चाहिए थीं। उनका कहना है कि जब तक इस संस्था को संरक्षित नहीं किया जाता, इस देश में लोकतंत्र जीवित नहीं रहेगा।”

प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद चारों जजों ने वो चिट्ठी भी सार्वजनिक कर दी थी जो उन्होंने चीफ जस्टिस को लिखी थी। सात पन्नों की चिट्ठी में कई विवादों का जिक्र किया गया था। चिट्ठी में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा पर मनमाने रवैये का जिक्र किया गया है।

इतना ही नहीं चिट्ठी में गुजरात का सोहराबुद्दीन एनकाउंटर को लेकर भी विवाद का जिक्र है। सोहराबुद्दीन शेख मुठभेड़ मामले की सुनवाई करने वाले विशेष सीबीआई जज बी एच लोया की संदिग्ध मौत की जांच को लेकर बड़ा विवाद हो गया है। जस्टिस गोगोई ने कहा है कि जजों में विवाद की वजह जज लोया की संदिग्ध मौत का मामला भी है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें