छेड़खानी से परेशान चार लड़कियां घर में रहने को मजबूर, पिता ने लिखी पीएम और सीएम को चिट्ठी

मेरठ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर कोई भी दावे करे लेकिन सरकार के दावों के पलट मेरठ में छेड़खानी से तंग चार लड़कियां घर की चारदीवारों के बीच कैद होने को मजबूर हैं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के बाद एंटी रोमियो स्क्वॉड बनाया गया था। उस समय सरकार की तरफ से दावा किया गया था कि उक्त स्क्वाड मनचलो पर काबू पायेगा लेकिन मेरठ की घटना से लगता है कि प्रदेश में मनचले अभी भी अपनी हरकतों को अंजाम दे रहे हैं।

चार लड़कियों के मजबूर पिता ने अपनी बच्चियों को गुंडों से बचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी पत्र लिखा है।

पीड़ित लड़कियों ने लोकभारत को बताया कि उनके साथ लगातार हो रही छेड़खानी और आवाज़कशी की घटनाओं से उनके मन में डर बैठ गया है। उन्होंने बताया कि गुंडे ईंटे बेख़ौफ़ हैं कि वे एक बार घर में भी घुसने की कोशिश कर चुके हैं और हमारे ऊपर तेज़ाब फेंकने की धमकी दे चुके हैं।

पीड़ित लड़कियों के पिता ने बताया कि उन्हें डर है कि उनकी बच्चियों के साथ कोई अनहोनी न हो इसलिए दो लड़कियां जो मदरसे में पढ़ने जाती थीं, अब घर में ही हैं और उन्हें डर से मदरसे नहीं जाने दिया जा रहा।

पुलिस अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि इस मामले में लड़कियों के पिता की तरफ से शिकायत मिली है। इस पर पुलिस अपनी कार्यवाही करेगी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *