चुनाव प्रचार के अंतिम दिन राहुल गांधी ने फिर किये संघ, बीजेपी और पीएम मोदी पर प्रहार

बेंगलुरु। कर्नाटक में 12 मई को होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव प्रचार के आखिरी दिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बेंगलुरू में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया।

इस दौरान उन्होंने कहा कि वे कर्नाटक में चुनाव प्रचार के दौरान काफी घूमे और अब कांग्रेस की जीत के लिए पूरी तरह आश्वस्त हैं। जहां तक मां (सोनिया गांधी) का सवाल है तो, वे अनेक भारतीय लोगों से ज्‍यादा भ्‍ाारतीय हैं।

राहुल गांधी ने कहा कि कर्नाटक चुनाव में हमने बहुत कुछ सीखा। हम मुद्दों पर चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरी तरह से एकजुट है। हमने घोषणापत्र में अपने विजन को बताया है। राहुल ने कहा कि बीजेपी निजी हमलों पर भरोसा करती है।

प्रेस कॉफ्रेंस के दौरान राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि प्रधानमंत्री कर्नाटक के लोगों के मुद्दों पर बात नहीं करते, बल्कि उनको भटका रहे हैं। वे बुलेट ट्रेन, सी-प्लेन की बात करते हैं जबकि आम लोगों की समस्याएं शिक्षा, रोजगार, महिलाओं की सुरक्षा, खेती के लिए पानी आदि है। इस पर पीएम मोदी कुछ नहीं बोलेते चुप रहते हैं। चीन में मोदी ने डोकलाम का नाम नहीं लिया। मोदी बिना एजेंडा चीन गए।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हमने कर्नाटक में घूमकर जनता से पूछा और उनकी आवाज को घोषणापत्र में शामिल किया। उन्होंने दावा किया कि बीजेपी ने हमारे घोषणापत्र की नकल की है। साथ ही, राहुल ने ये भी कहा कि विरोधियों ने हम पर निजी हमले किए हैं, जबकि हम मुद्दों पर चुनाव लड़ रहे हैं और पूरी उम्मीद है कि कर्नाटक में कांग्रेस पार्टी की जीत होगी।

उन्होंने कहा, हमने कर्नाटक में किसानों को 8,000 करोड़ रुपए दिए। मैं पूछना चाहता हूं कि मोदी ने कर्नाटक और देश के किसानों को कितना पैसा दिया।

हिंदू शब्द का मतलब नही जानते बीजेपी के लोग:

राहुल ने कहा कि वो लोग हिन्दू शब्द का मतलब तक नहीं जानते। बीजेपी हिंदू शब्द के मतलब से अनजान है। मेरे मंदिर जाने से बीजेपी को दिक्कत होती है लेकिन मैं मंदिर जाता रहूंगा। राहुल ने कहा कि 2019 का चुनाव हार जाएगी बीजेपी।

पीएम द्वारा उन पर किए गए निजी हमलों को लेकर राहुल गांधी ने पत्रकारों से पूछा कि क्या आपको इस तरह की भाषा पसंद है। क्या आप ऐसे बयान पसंद करते हैं।

सोनिया गांधी पर पीएम मोदी के हमले का राहुल ने दिया करारा जवाब:

मां सोनिया गांधी पर पीएम मोदी के हमले का राहुल गांधी ने करारा जवाब देते हुए कहा, ‘मैं जितने भी भारतीय लोगों से मिला हूं, उन सबसे अधिक भारतीय मेरी मां हैं। अगर पीएम मोदी को उन्हें कोसना पसंद है, तो अपनी खुशी के लिए वह ऐसा कर सकते हैं।’

बीजेपी और आरएसएस की विचारधारा पर हमला:

राहुल गांधी ने कहा कि आरएसएस-बीजेपी कर्नाटक की भावना, पहचान और बसवाना के सिद्धांतों को छीनकर यहां आरएसएस की प्रतिक्रियात्मक विचारधारा लाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि ये कर्नाटक और आरएसएस की विचारधारा के बीच लड़ाई है, असलियत तो ये है कि वे अब बुरी तरह घबरा चुके हैं और उनको कर्नाटक में अपनी हार का अहसास हो गया है।

मोदी के मित्रों के लिए राफेल डील अच्छी:

राहुल गांधी से जब पीएम मोदी की राफेल डील के बारे में पूछा गया तो उन्होंने जवाब दिया, ‘राफेल डील अच्छी है, यह मैं भी मानता हूं, लेकिन यह डील सिर्फ मोदी के मित्रों के लिए अच्छी हुई है।’ वहीं, रेड्डी ब्रदर्स को लेकर राहुल ने कहा कि रेड्डी ब्रदर्स ने कर्नाटक के लोगों के 35000 करोड़ रुपये लूटे।

दलितों के मुद्दों पर मौन हैं पीएम मोदी:

दलितों के मुद्दे पर राहुल गांधी ने कहा कि हम दलितों के मुद्दे उठाते हैं और उठाते रहेंगे, लेकिन पीएम मोदी उनके लिए क्यों नहीं बोलते हैं। उन्होंने ये भी कहा कि पीएम मोदी रोहित वेमुला पर एक शब्द नहीं बोले और न ही उन्होंने ऊना के मुद्दे पर कुछ कहा।

मोदी सब तरह की बात करते हैं लेकिन युवाओं पर नहीं बोलते:

तेल की कम कीमतों का फायदा जनता को नहीं मिला। युवाओं को राेजगार देने के मुद्दे पर राहुल गांधी ने कहा कि देश में आज सबसे बड़ी चुनौती हमारे युवाओं को रोज़गार देने की है। उन्होंने कहा कि मोदी सब तरह की बात करते हैं लेकिन युवाओं पर नहीं बोलते, दो करोड़ नौकरियों पर बात नहीं करते।

पीएम बनने के सवाल पर दिया ये जबाव:

प्रधानमंत्री बनने की दावेदारी से जुड़े एक सवाल पर पल्ला झाड़ते हुए राहुल गांधी ने कहा कि ये चुनाव मेरे प्रधानमंत्री बनने के लिए नहीं है। गौरतलब है कि प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राहुल गांधी के साथ बेंगलुरू में कर्नाटक के सीएम सिद्धरमैया भी मौजूद रहे। इस दौरान राहुल ने कहा कि हमारा चुनाव प्रचार शानदार रहा है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें