चिदंबरम का सवाल: 30 वर्षों में सबसे निचले स्तर पर क्यों पहुंची देश की विकास दर

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदमबरम ने देश की अर्थव्यवस्था को लेकर एक बार फिर मोदी सरकार को निशाने पर लिया है। चिदंबरम ने मोदी सरकार से सवाल किया है कि 30 वर्षों में सदेश की विकास दर बसे निचले स्तर पर क्यों पहुंची ?

शनिवार को ट्विटर पर चिदंबरम ने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधते हुए कहा कि विश्व बैंक के पूर्व मुख्य अर्थशास्त्री डॉ कौशिक बसु का मानना है कि भारत की विकास दर पिछले 30 सालों की तुलना में सबसे निचले स्तर पर है लेकिन हमारे वित्त मंत्री कह रहे हैं कि हमारी विकास दर अच्छी बनी हुई है।

पी चिदंबरम ने यह भी पूछा कि पिछले चार वर्षों में एनडीए की औसत विकास दर क्या थी। उन्होंने कहा कि नई पद्धति के अनुसार यह दर 7.3 है, जो यूपीए के 10 साल के शासन काल के औसत दर से कम है। यही नहीं उन्होंने यह भी पूछा है कि एनडीए की विकास दर किस दिशा में है। निवेश, बचत, क्रेडिट ग्रोथ, सभी दिशा में एनडीए की विकास दर नीचे की ओर जा रही है।

बता दें कि पिछले दिनों वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2018-19 का आर्थिक सर्वेक्षण लोकसभा में पेश किया था। इसमें जीडीपी ग्रोथ 7-7.5 फीसदी के बीच रहने की संभावना जताई गई थी।

सर्वे के अनुसार सरकार का इस बार मुख्य फोकस रोजगार, शिक्षा पर रहेगा और सर्विस ग्रोथ 8.3 फीसदी रहने का अनुमान जताया था। इसके साथ ही सर्वे में कहा गया है कि इस बार नोटबंदी और जीएसटी के लागू होने के बाद करदाताओं की संख्या में 50 फीसदी का इजाफा हुआ है।

Share

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें