चित्रकूट उपचुनाव: कांग्रेस जीत की तरफ, 25 हज़ार से अधिक वोटों से आगे

भोपाल। मध्य प्रदेश के चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव चुनाव के लिए गिनती का काम जारी है। रुझानों के अनुसार यहाँ कांग्रेस जीत की तरफ बढ़ रही है। कांग्रेस उम्मीदवार नीलांशु चतुर्वेदी ने अपने निकटम उम्मीदवार बीजेपी के शंकर दयाल त्रिपाठी पर 25,231 वोटों की बढ़त बना ली है।

इससे पहले आज सुबह वोटों की गिनती सुबह आठ बजे से शुरु होनी थी लेकिन सतना के शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय में जिन कमरों में ईवीएम रखी थी उसकी चाभी गुम हो गई। इसके बाद ताला तोड़कर वोटों की गिनती शुरू की गई।

चित्रकूट विधानसभा चुनाव बीजेपी के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उपचुनाव के मद्देनजर इस इलाके का कई बार दौरा कर कई बड़ी घोषणाएं की थीं।

यहाँ कांग्रेस के अलावा समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी महेन्द्र कुमार और अवध बिहारी मिश्रा निर्दलीय उम्मीदवार हैं। कांग्रेस विधायक प्रेम सिंह के निधन से खाली हुई इस सीट पर उपचुनाव के लिए 9 नवंबर को वोट डाले गए थे।

बता दें कि चित्रकूट विधानसभा चुनावो में कांग्रेस ने 1985, 1998, 2003 और 2013 में जीत दर्ज की है वहीँ 1990 में इस सीट पर जनतादल और 1993 में बीएसपी उम्मीदवारों ने जीत हासिल की थी। 1985 से लेकर अब तक भारतीय जनता पार्टी यहाँ से सिर्फ एक बार वर्ष 2008 के चुनावो में विजयी रही है।

चित्रकूट को कांग्रेस का मजबूत गढ़ माना जाता है। 1957 से लेकर 2013 तक यहाँ 12 बार विधानसभा चुनाव हुए हैं जिनमे कांग्रेस ने 6 बार जीत दर्ज की है। वहीँ बीजेपी, जनता दल और बीएसपी ने एक एक बार यह सीट जीती है।

इस सीट पर 1957 में आरआरपी और 1967 में पीएसपी नामक पार्टियों के उम्मीदवार चुनाव जीते हैं वहीँ 1977 में जब पूरे देश में कांग्रेस विरोधी लहर थी तब यहाँ जनता पार्टी उम्मीदवार विजयी रहे थे।

 

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें