चारा घोटाला: एल्फाबेटिक सिस्टम के चलते आज भी नहीं हुआ फैसला, अब कल सुनाई जाएगी सजा

रांची। चारा घोटाले में सीबीआई की विशेष अदालत को आज 16 आरोपियों को सजा सुनाई जानी थी लेकिन गुरुवार को A से K नाम वाले आरोपियों की सजा सुनाई जाएगी। A से K लेटर वाले चार अभियुक्त हैं, इसलिए आज लालू की सजा का ऐलान नहीं हो पाएगा।

इससे पहले आज सुबह लालू यादव रांची की विशेष सीबीआई अदालत पहुंचे थे लेकिन उनके नाम की सजा का एलान टालने के कारण लालू को कोर्ट से वापस जेल ले जाया गया।

इस केस में लालू समेत 16 लोगों को आज सजा सुनाई जानी है। अदालत ने लालू यादव को धोखाधड़ी, साजिश और भ्रष्टाचार के आरोप में आईपीसी की धारा 420, 120 बी और पीसी एक्ट की धारा 13( 2) के तहत दोषी पाया है। इस मामले में बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा और ध्रुव भगत समेत 6 लोगों को बरी कर दिया गया था।

सजा का एलान टलने पर लालू यादव ने अपील की उनकी सजा का ऐलान जल्द ही किया जाए। उन्होंने कहा कि कल से वीडियो कांफ्रेंसिंग होगी, वीडियो से नहीं आज ही सजा सुनाईए।

क्या है पूरा मामला?

साल 1990 से 1994 के बीच देवघर कोषागार से पशु चारे के नाम पर अवैध ढंग से 89 लाख, 27 हजार रुपये निकालने का आरोप है। इस दौरान लालू यादव बिहार के मुख्यमंत्री थे। हालांकि, ये पूरा चारा घोटाला 950 करोड़ रुपये का है, जिनमें से एक देवघर कोषागार से जुड़ा केस है।

इस मामले में कुल 38 लोग आरोपी थे जिनके खिलाफ सीबीआई ने 27 अक्टूबर, 1997 को मुकदमा दर्ज किया था। लगभग 20 साल बाद इस मामले में फैसले आया था। इससे पहले चाईबासा कोषागार से 37 करोड़, 70 लाख रुपये अवैध ढंग से निकालने के चारा घोटाले के एक दूसरे केस में सभी आरोपियों को सजा हो चुकी है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें