गौहत्या के मामले में पुलिस ने नाबालिंग मुस्लिम बच्चियों को भेजा जेल

मुज़फ्फरनगर। यहाँ पलिस ने गौहत्या के एक मामले में दो नाबालिंग बच्चियों को जुवेनाइल होम भेजने की जगह जेल भेज दिया। जबकि जेल भेजी गयीं बच्चियों की जन्म तारीख 2001 तथा 2005 पाई गयी जिसके अनुसार उन्हें नाबालिंग मानते हुए जुवेनाइल होम भेजा जाना चाहिए था।

टीओआई की खबर के अनुसार पुलिस ने कोर्ट में मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश करने के दौरान दोनो बच्चियों के बालिंग बताया। दरअसल पुलिस ने एक घर पर छापा मार कर दावा किया था कि वहां गौकशी हुई थी। पुलिस के दावे के अनुसार उसे घर से दस कुंटल गाय का मीट तथा गौकशी करने के औज़ार मिले थे।

पुलिस के अनुसार छापेमारी के दौरान नाबालिंग लड़कियों के पिता नसीमुद्दीन सहित 4 लोग मौके से फरार हो गए। पुलिस ने इस मामले में दोनों लड़कियों की मां और छह अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है।

टीओआई की खबर के अनुसार बच्चियों की उम्र आधार कार्ड के अनुसार 12 और 16 साल है। पुलिस के अनुसार नाबलिग लड़कियों के पिता नसीमुद्दीन को भी मामले में अपराधी बनाया गया है, लेकिन फिलहाल वो फरार चल रहा है। पुलिस का दावा है कि नसीमुद्दीन पर पहले भी गौकशी के कई मामले दर्ज हैं।

वहीँ नाबालिंग लड़कियों की गिरफ्तारी के बाद स्थानीय लोगों ने इस पर विरोध जताया है। लोगों का कहना था कि पुलिस ने नसीमुद्दीन की पत्नी और बच्चियों को क्यों गिरफ्तार किया है ? यदि नसीमुद्दीन गौहत्या का आरोपी है तो पुलिस उस पर कार्रवाही करे न कि उसकी पत्नी और बच्चो पर।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें