गोरखपुर: बच्चो के लिए मौतगाह बना बीआरडी अस्पताल, पिछले 48 घंटे में 34 और बच्चो की मौत

गोरखपुर। गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में बच्चो की ताबड़तोड़ मौत का सिलसिला जारी है और पिछले दो दिनों में 34 और बच्चो की मौत हो चुकी है। इनमें से पांच मौतें इंसेफेलाइटिस से हुई हैं।

बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज(बीआरडी) के प्राचार्य डा.पी.के.सिंह के मुताबिक, सबसे ज्यादा 24 मौतें सोमवार को हुईं। इनमें से 15 मासूमों की मौत एनआईसीयू में हुई। इंसेफेलाइटिस वार्ड में एईएस के पांच सहित नौ मरीजों की मौत हुई।

मंगलवार को पीडियाडिपार्टमेंट में दस मासूमों की मौत हुई। इनमें सात मौतें एमाइसीयू में हुईं और तीन इंसेफेलाइटिस वार्ड में तीन की। इंसेफेलाइटिस वार्ड में तीनों मौते गैर एईएस मरीजों की हुई हैं।

वहीँ सूत्रों से मिली खबरों में कहा गया है कि मृतक बच्चो का शव उनके परिजनों को सौंपने में अस्पताल प्रशासन से सतर्कता बरतने को कहा गया है। सूत्रों के अनुसार ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि बच्चो की हो रही मौतों पर जनाक्रोश न भड़क उठे। इतना ही नहीं मीडिया को पूरी जानकारी उपलब्ध नहीं कराई जा रही।

बता दें कि इससे पहले बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 10 एवं 11 अगस्त को हुई मासूमों की मौत के पीछे आक्सीजन की कमी भी एक बड़ी वजह रही।जिलाधिकारी राजीव रौतेला द्वारा कराई गई मजिस्ट्रेट जांच रिपोर्ट में भी उल्लेख किया गया है कि बच्चो की मौत के लिए ऑक्सीजन की कमी भी एक बड़ा कारण है।

 

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *