गुजरात पुलिस की व्हाट्सएप चैट हुई वायरल, विधायक जिग्नेश मेवाणी ने जताई हत्या की आशंका

अहमदाबाद। गुजरात पुलिस के एक व्हाट्सएप ग्रुप की चैट वायरल होने से मामला गरमा गया है। इस वाट्सऐप ग्रुप का नाम एडीआर पुलिस एंड मीडिया है। जिसमें वरिष्ठ पुलिस कर्मी  शामिल हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस वीडियो में उत्तर प्रदेश में पुलिस द्वारा किये गए एनकाउंटर से जुटे एक पोस्ट पर अहमदाबाद ग्रामीण के उप-पुलिस अधीक्षक ने अपने कमेंट में कहा कि जो लोग पुलिस के बाप बनना चाहते हैं, उसे लखोटा कहते हैं और पुलिस का वीडियो बनाते हैं उन्हें ध्यान रखना चाहिए कि उन जैसे लोगों के साथ पुलिस इसी तरह पेश आएगी। उन्हें अंजाम भुगतना पड़ेगा।

अहमदाबाद ग्रामीण के उप पुलिस अधीक्षक के कमेंट को अहमदाबाद के पुलिस अधीक्षक सहित कुछ पुलिसकर्मियों ने थम्पस अप इमोजी पोस्ट किया है। हालाँकि मामला बढ़ता देख उन्होंने अपने इस कमेंट पर सफाई भी दी है।

वहीँ निर्दलीय विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी ने व्हाट्सएप चैट का हवाला देते हुए अपनी सुरक्षा को लेकर सवाल उठाये हैं। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि “जिग्नेश मेवानी का एनकाउंटर? मैं आपको एक वेब पोर्टल का लिंक दे रहा हूं जिसने एक वाट्सऐप बातचीत का खुलासा किया है, जिसमें दो पुलिस अधिकारी इस बात की चर्चा कर रहे हैं कि कैसे मुझे एनकाउंटर में मारा जा सकता है।”

मेवाणी ने पूछा कि “क्या आप इसपर विश्वास करेंगे? उन्होंने आगे कहा- यह एक गंभीर मसला है। दो पुलिस अधिकारी बात कर रहे हैं कि मेरा एनकाउंटर कैसे किया जा सकता है। मैं इसकी शिकायत डीजीपी, गृह मंत्रालय और गृह सचिव से करुंगा।”

फ़िलहाल गुजरात पुलिस का व्हाट्सएप चैट सुर्ख़ियों में आ गया है। इस ग्रुप को लेकर तरह तरह की चर्चाएं सामने आ रही हैं। पुलिस से जुड़े व्हाट्सएप ग्रुप की चैट कैसे लीक हुई अभी इस बारे में विस्तृत जानकारी नहीं मिली है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें