दिग्विजय सिंह को देशद्रोही बताकर फंसे शिवराज, गिरफ्तारी देने थाने पहुंचे दिग्विजय सिंह

भोपाल ब्यूरो। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह अपने ही दिए हुए एक बयान से घिर गए हैं। बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जन आशीर्वाद यात्रा के समय सतना जिले में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दिग्विजय सिंह को देशद्रोही कहा था।

उन्होंने कहा था, ‘अगर पुलिस किसी आतंकवादी को मार दे, तो दिग्विजय आतंकवादी के घर जाते हैं। उन्हें ‘जी’ कहकर संबोधित करते हैं। कई बार दिग्विजय सिंह के ये कदम मुझे देशद्रोही लगते हैं।’

शिवराज के बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने आज भोपाल की सड़कों पर मार्च निकाला और अपनी गिरफ्तार देने टीटी नगर पुलिस स्टेशन पहुंचे। दिग्विजय सिंह ने शिवराज सिंह चौहान को चुनौती दी कि अगर वो मुझको देशद्रोही मानते हैं, तो मुझे गिरफ्तार करवाएं।

इससे पहले दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज सिंह के नाम एक पत्र लिखकर कहा था कि ‘यदि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह मुझे देशद्रोही मानते हैं। जहां तक मुझे मालूम है मैंने ऐसा कोई काम नहीं किया, जिसकी वजह से संवैधानिक पद पर विराजमान मुख्यमंत्री की नजरों में मैं ‘देशद्रोही’ की श्रेणी में आता हूं।’

पत्र में दिग्विजय सिंह ने लिखा कि ‘सीएम शिवराज सिंह चौहान के पास मेरे देशद्रोही होने के जो भी सबूत हैं, उन्हें वो प्रशासन को सौंप दें, ताकि मेरी गिरफ्तारी हो सके और मुझ पर केस दर्ज करने में कोई रुकावट ना आए।’

शिवराज सिंह के बयान के जबाव में दिग्विजय सिंह ने अपने समर्थकों के साथ बारिश में तीन किमी तक मार्च निकाला। जब वो अपने हजारों समर्थकों के साथ टीटी नगर पुलिस स्टेशन की ओर बढ़ रहे थे, तभी कुछ दूरी पर उनको रोक दिया गया लेकिन बाद में दिग्विजय सिंह को पूरे सम्मान के साथ पुलिस स्टेशन में आने दिया गया।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘मैं यहां खुद की गिरफ्तारी देने आया हूं। अगर मुख्यमंत्री सोचते हैं कि मैं देशद्रोही हूं, तो उनको मुझे फौरन गिरफ्तार करवाना चाहिए।

इस पर पुलिस ने दिग्विजय सिंह को लिखित में दिया कि उनके ऊपर देशद्रोह का कोई केस दर्ज नहीं है और न ही उनके खिलाफ इस तरह की कोई शिकायत पुलिस के पास है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें