गहराई से: भगवा की आड़ में वह 13 साल की नाबालिग को बनाता था हवस का शिकार

नई दिल्ली। राजस्थान के राजसमंद में शंभूलाल सेंगर का कच्चा चिट्ठा खुलने के बाद अब बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि पश्चिम बंगाल के एक निर्दोष मजदुर की हत्याकर उसका वीडियो वायरल करने वाले जिस शंभूलाल रैंगर को हिंदू हितेषी कहकर पेश किया जा रहा था, वह एक 13 वर्षीय नाबालिंग लड़की को अपनी हवस का शिकार बनाता था।

शंभूलाल रैंगर का वीडियो वायरल होने के बाद हिन्दू संगठनों ने शंभूलाल को हिंदू चेहरे के रूप में पेश किया। इतना ही नहीं शंभूलाल को बचाने के लिए कोर्ट के गेट पर भगवा तक फहरा दिया।

शंभूलाल रैंगर ने अपनी करतूतों पर पर्दा डालने की कोशिशों के तहत स्वयं द्वारा एक निर्दोष के क़त्ल को लव जिहाद का नाम देकर सहानुभूति बटोरने की कोशिश की। लेकिन उसकी चालाकी धरी रह गयी। कातिल शम्भुलाल रैंगर के खिलाफ पुलिस द्वारा दाखिल की गयी चार्जशीट में उस लड़की को भी अहम गवाह बनाया गया है जिसे शंभूलाल इधर उधर ले जाकर अपनी हवस शांत करता था।

शम्भुलाल करीब एक साल से नाबालिंग लड़के से जबरन एक घर में जाकर नाजायज़ संबंध बनाता था। पुलिस ने इस मामले में दूसरा अहम गवाह शम्भुलाल के उस 15 वर्षीय भांजे को बनाया है जिसने ह्त्या का वीडियो बनाया था।

बीते शुक्रवार शाम को पुलिस द्वारा कोर्ट में दाखिल की गयी 413 पन्नों की चार्जशीट में शम्भुलाल रैंगर के खिलाड़ 68 सबूत रखे हैं। इस चार्जशीट में शम्भुलाल रैंगर का असली चेहरा बेनकाब हो गया है।

413 पन्नों की पुलिस चार्जशीट में हत्या के कई ऐसे सबूत और वजह हैं जो इस बात का खुलासा कर रहे हैं कि अफारज़ुल पर लव जिहाद का इल्ज़ाम लगाने वाला शंभू असल में एक खूनी दरिंदा है।

पुलिस को शंभू की एक डायरी मिली है, जिसमें वारदात के बाद बनाये गए वीडियो में इस्तेमाल शब्दों को लिखा गया था. यानी वीडियो में क्या बोलना है ये शंभू ने पहले से तय कर रखा था।

इतना ही नहीं पुलिस चार्जशीट के मुताबिक हत्या का लाइव वीडियो बनाने के लिए उसने अपने भांजे को बाकायदा ट्रेनिंग दी थी। वीडियो बनाते वक्त भांजा डरे नहीं इसलिए वो अक्सर उसे बलि देने वाले वीडियो दिखाया करता था। बकौल पुलिस शंभु ने वारदात से पहले और बाद में भतीजे से आठ वीडियो बनवाए थे।

पुलिस के मुताबिक वारदात से करीब दो महीने पहले ही शंभू ने हत्या में शामिल किए गए हथियार खरीद लिए थे। पांच दिसंबर को शंभु ने इस वारदात से जुड़े पांच वीडियो बना डाले थे। वो लगातार इस हत्या की साजिश को अमली जामा पहनाने के लिए अभ्यास कर रहा था। इस तरह से पुलिस ने उस दरिंदे का असली चेहरा उजागर कर दिया जो धर्म की आड़ लेकर अपने गुनाह को लव जिहाद के पीछे छिपाने की कोशिश कर रहा था लेकिन जल्द ही उसका असली चेहरा पुलिस के सामने आ गया।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *