गठबंधन नहीं हुआ तो अधिकांश सीटों पर लड़ेंगे शिवपाल की पार्टी के उम्मीदवार

लखनऊ। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने एलान किया है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में यदि उनकी पार्टी का किसी अन्य दल के साथ गठबंधन नहीं होता है तो भी अधिकांश सीटों पर उनके उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे।

हालाँकि गठबंधन की उम्मीद जताते हुए शिवपाल यादव ने कहा है कि आगामी लोकसभा चुनाव में वह भाजपा के खिलाफ बनने वाले गठबंधन में शामिल हो सकते हैं लेकिन ऐसा पूरे सम्मान के साथ ही होगा।

पीटीआई के मुताबिक, उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी पूरे सम्मान के साथ गठबंधन में शामिल होगी। यदि सम्मान नहीं मिला तो वह अपने प्रत्याशी चुनाव में उतारेंगे और वह इसके लिए वह तैयार है। उन्होंने कहा कि गठबंधन नहीं हुआ तो पार्टी अधिकतर सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी।

शिवपाल यादव यहां तहसील चौपले पर भूतपूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद मीडियाकर्मियों से बातचीत कर रहे थे।उन्होंने कहा कि असली समाजवादी पार्टी अब उनकी हो गई है। पार्टी पूरी तरह लोहिया के विचारों वाली है।

उन्होंने राफेल मामले में कहा कि यदि केंद्र सरकार सही है तो उसे जांच से घबराना नहीं चाहिए। शहरों के नाम बदले जाने पर उन्होंने कहा कि शहरों के नाम बदलने से लोगों का मन नहीं बदला जा सकता और जनता भाजपा के झूठ से तंग आ चुकी है।

गौरतलब है कि शिवपाल की पार्टी को हाल ही में चुनाव आयोग से मान्यता मिली है। शिवपाल ने अपनी नई पार्टी का पूरे प्रदेश में संगठन खड़ा कर लिया है और अब वे 2019 के चुनावो की तैयारी में लगे हैं।

कभी समाजवादी पार्टी में रहे कई कद्दावर नेता भी अब शिवपाल की पार्टी में शामिल हो गए हैं। इनमे पूर्व विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष और पंचायत सदस्यों के अलावा पूर्व पालिका अध्यक्ष भी शामिल हैं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें