खुली पोल: दलित के घर भोजन करने पहुंचे मंत्री जी ने बाहर से मंगवाया था खाना

लखनऊ ब्यूरो। रस्मी तौर पर दलितों के यहाँ भोजन करने के नाम पर दिखावा हो रहा है। हाल ही में योगी सरकार में मंत्री सुरेश राणा ने लोहागढ़ गाँव में एक दलित के यहाँ भोजन करने के नाम पर बाहर से खाना मंगवा कर खाया।

मामले की पोल खुलने के बाद मंत्री जी ने लीपापोती करने के लिए अगले दिन सुबह दलित परिवार के घर की चाय पीकर एक और दिखावा किया। मंत्री जी के इस कारनामे से विपक्ष बीजेपी पर दलित प्रेम के नाम पर नाटक करने का आरोप लगा रहा है।

सोमवार रात प्रभारी मंत्री ने तयसुदा कार्यक्रम के दौरान लोहगढ़ के रात्रि प्रवास में दलित समाज के सतीश के घर पहुंचकर खाना खाया। इस दौरान यह देखने में आया कि पंचायत घर पर कैटर द्वारा बनाया गया खाना सतीश के घर पहुंचा, जिसमें प्रभारी मंत्री सहित उनके साथ मौजूद पार्टी के सभी लोग खाने में शामिल हुए।

पोल खुलने पर स्थानीय बीजेपी नेताओं ने सफाई दी कि जिस दलित परिवार के यहाँ भोजन करना था वहां शाम को ही खाना बन गया था। उसके यहां दो तीन लोगों के हिसाब से ही भोजन बना था। जब उसके घर खाने पर गए तो एक दर्जन से अधिक कार्यकर्ता व नेतागण साथ थे। इसलिए आनन-फानन अधिकारियों व कार्यकर्ताओं के लिए कैटर के यहां से भोजन की व्यवस्था की गई।

बता दें कि बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती शुरू से ही कहती आ रही हैं कि बीजेपी दलितों के यहाँ भोजन करने का नाटक करती है। वह दलितों को वोट बैंक के तौर पर इस्तेमाल करना चाहती है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें