खनन घोटाले की चपेट में आयीं IAS चंद्रकला, CBI का छापा, अखिलेश यादव से भी हो सकती है पूछताछ

लखनऊ ब्यूरो। उत्तर प्रदेश में खनन घोटाले को लेकर सीबीआई ने कई जगह छापेमारी की है। इसमें आईएएस अफसर चंद्रकला के घर भी सीबीआई ने छापेमारी की है। सीबीआई का कहना है कि इस मामले में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की भूमिका की भी जांच होगी।

सीबीआई ने रेत के अवैध खनन से जुड़े मामले में शनिवार को उत्तर प्रदेश और दिल्ली में 12 जगहों पर छापे मारे। अधिकारियों ने बताया कि आईएएस अधिकारी बी. चन्द्रकला सहित वरिष्ठ अधिकारियों के आवासों पर इस संबंध में छापे मारे गए।

सीबीआई ने इस मामले में बीएसपी नेता सत्यदेव दीक्षित और एसपी एमएलसी रमेश मिश्रा के घर भी छापेमारी की है। खनन घोटाले में सीबीआई ने यह छापेमारी उत्तर प्रदेश के जालौन, हमीरपुर, लखनऊ समेत कई जिलों के साथ ही दिल्ली में भी की है।

आईएस आधिकारी बी चंद्रकला के यहाँ सीबीआई छापेमारी को लेकर कहा जा रहा है कि उन पर आरोप हमीरपुर और बुलंदशहर में जिलाधिकारी के पद पर तैनाती के दौरान अवैध तरीके से अपने चहेतों को खनन पट्टे दिए जाने का आरोप था। इसलिए सीबीआई ने चन्द्रकला के यहाँ भी छापेमारी की है।

सीबीआई के मुताबिक इस मामले में पूर्व सीएम अखिलेश यादव से भी पूछताछ की जा सकती है। 2012 से 2013 तक खनन विभाग तत्कालीन सीएम अखिलेश के पास था। गौरतलब है कि अवैध बालू खनन मामले की जांच के लिए इलाहाबाद हाई कोर्ट के निर्देश पर सीबीआई ने यह मामला अपने हाथ में लिया है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें