क्या सेक्स रैकेट में पकडे गए नीरज शाक्य के कंधे पर था बीजेपी के बड़े नेताओं का हाथ !

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के भोपाल में ऑनलाइन सेक्स रैकेट के संचालन में शामिल बीजेपी के मीडिया प्रभारी नीरज शाक्य की बीजेपी के बड़े नेताओं में गहरी पैठ थी। इसका खुलासा सोशल मीडिया पर वायरल हो रही नीरज शाक्य की तस्वीरों से हो रहा है।

जानकारी मिली है कि सैक्स रैकेट में संलिप्त नीरज शाक्य आरएसएस की शाखाओ में भी नियमित रूप से जाता था। जानकारी के अनुसार सिर्फ बीजेपी ही नहीं संघ के कई नेताओ से भी उसके करीबी रिश्ते हैं।

नीरज शाक्य के कई फोटो बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के साथ हैं, एक फोटो में उन्होंने नीरज शाक्य के कंधे पर हाथ रखा हुआ है

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीरों में नीरज शाक्य को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कैलाश विजयवर्गीय के अलावा साध्वी ऋतंबरा के साथ दिख रहा है। तस्वीरें देखने के बाद एक अहम सवाल उठता है कि क्या सेक्स रैकेट की जानकारी बीजेपी नेताओं को पहले से थी ? क्या पकडे गए नीरज शाक्य के पीछे बीजेपी के कुछ कद्दावर नेता हैं ?

सेक्स रैकेट से जुड़े नीरज शाक्य कड़ी सुरक्षा के बावजूद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के करीब तक कैसे पहुँच गया ?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मध्य प्रदेश साइबर सेल को शिकायत मिली थी कि भोपाल में ऑनलाइन वेबसाइट के जरिये सेक्स रैकेट चलाया जा रहा है। इस शिकायत के बाद मामले की जांच में जुटी पुलिस ने खुलासा किया कि एक गैंग ग्राहकों को ऑनलाइन बुकिंग के जरिये लड़कियां सप्लाई कर रहा है।

नीरज शाक्य एक तरफ सेक्स रैकेट चलाता था वहीँ दूसरी तरफ उसकी धार्मिकता में भी कोई कमी नहीं थी

इस रैकेट में शामिल लोग शहर के पॉश इलाके अरेरा कॉलोनी की अशोका सोसायटी से इस काम को कर रहे थे। पुलिस ने शुक्रवार को वहां छापा मारकर 9 लोगों को गिरफ्तार किया। इस रैकेट का सरगना सुभाष नाम का शख्स फरार है। वहीं, गिरफ्त में आया एक शख्स नीरज शाक्य जो भाजपा का प्रदेश मीडिया प्रभारी (एससी मोर्चा) है।

सेक्स रैकेट से जुड़े नीरज शाक्य को संघ की शाखाओं और कार्यक्रमों में भी देखा गया

मीडिया के मुताबिक, सेक्स रैकेट में नाम आने के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने नीरज शाक्य को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। पुलिस के अनुसार इस गिरोह के सदस्य जॉब से जुड़ी विभिन्न वेबसाइट्स पर अपना बायोडाटा अपलोड करने वाली लड़कियों से संपर्क करते थे और जॉब का ऑफर देकर भोपाल बुलाते थे। फिर सेक्स रैकेट में धकेल देते थे। पुलिस ने बताया कि जिस वेबसाइट के जरिये ये लोग गोरखधंधा चलाते थे वह दिल्ली में पंजीकृत है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *