क्या संघ ने मान लिया 2019 में नहीं बन रही बीजेपी की सरकार ?

नई दिल्ली। क्या बीजेपी की रीड की हड्डी माने जाने वाले राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) ने मान लिया है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की सरकार में वापसी नहीं हो रही ? आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के एक बयान से ज़ाहिर होता है कि 2019 के आम चुनावो में बीजेपी की वापसी को लेकर उसकी राय अब बदल चुकी है।

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने राम मंदिर निर्माण को लेकर दिए गए बयान में इस तरह के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि 2019 के आम चुनाव के बाद चाहे जिसकी सरकार बने, लोकसभा चुनाव के बाद आरएसएस अयोध्या में राम मंदिर निर्माण शुरू कर देगा।

वहीँ दूसरी तरफ राम जन्मभूमि आंदोलन में सक्रीय भूमिका निभाने वाले आरएसएस द्वारा अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर निर्माण के लिए संसद से एक कानून पारित कराने के लिए पिछले कई महीनों से देश भर में अभियान चलाया जा रहा है।

संघ प्रमुख मोहन भागवत द्वारा राम मंदिर निर्माण को लेकर दिए गए ताज़ा बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं। संघ अब तक यह दावे करता रहा है कि राम मंदिर का निर्माण बीजेपी के कार्यकाल में ही होगा लेकिन अब संघ प्रमुख ने बयान दिया है कि 2019 के आमचुनाव में किसी की भी सरकार बने राम मंदिर निर्माण का काम शुरू हो जायेगा।

यानि संघ अब यह मान रहा है कि 2019 के आम चुनाव में बीजेपी की एक बार फिर से सत्ता में वापसी की सौ फीसदी संभावना नहीं रही। संघ प्रमुख का यह बयान विश्व हिन्दू परिषद के उस बयान के बाद आया है जिसमे विहिप ने एलान किया कि वह लोकसभा चुनाव होने तक राम मंदिर निर्माण को लेकर कोई अभियान नहीं छेड़ेगा।

विहिप नेता सुरेंद्र जैन ने इस आशय का बयान देते हुए कहा था कि राम मंदिर निर्माण आस्था का विषय है, विहिप नहीं चाहता कि राम मंदिर निर्माण को कोई पार्टी चुनावी मुद्दा बनाये। विहिप का ताजा बयान बीजेपी को राहत देने वाला है क्यों कि अब वह राम मंदिर निर्माण को अपने चुनावी घोषणा पत्र में शामिल होने से बच सकती है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें