क्या टूट के कगार पर है बीजेपी शिवसेना गठबंधन, अमित शाह ने दिए संकेत

नई दिल्ली। क्या महाराष्ट्र में बीजेपी शिवसेना गठबंधन के समाप्त होने की उल्टी गिनतियाँ शुरू हो चुकी हैं। इस बात के संकेत बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के उस बयान से मिलते हैं जो उन्होंने महाराष्ट्र के बीजेपी सांसदों के साथ बैठक के दौरान दिया है।

शाह ने बुधवार को दिल्ली में महाराष्ट्र से भाजपा सांसदों के साथ हुई एक बैठक में कहा कि वे राज्य में लोकसभा चुनाव अकेले लड़ने के लिए तैयार रहें।

शाह के निर्देशों से स्पष्ट है कि महाराष्ट्र में बीजेपी – शिवसेना के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर तगड़ा पेंच फंसा हुआ है और अब इस पेंच के निकलने की सम्भावना समाप्त हो चुकी है।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने महाराष्ट्र के सांसदों के साथ बैठक में कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में शिवसेना के साथ गठबंधन करने की कोशिशें जारी हैं लेकिन इसके बावजूद पार्टी सांसदों को अकेले चुनाव लड़ने के लिए तैयार रहें।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में शिवसेना, बीजेपी की सहयोगी पार्टी है और वह एनडीए का हिस्सा भी है। इसके बावजूद शिवसेना लगातार मोदी सरकार और बीजेपी पर बड़े हमले करती आ रही है।

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर भी शिवसेना लगातार बीजेपी और मोदी सरकार की घेराबंदी कर रही है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसे इस बात पर ताज्जुब है कि अगर भाजपा के नेतृत्व वाली वर्तमान सरकार के कार्यकाल में अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण नहीं होगा तो कब होगा।

वहीँ माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव में तीन राज्यों में बीजेपी के सत्ता गंवाने के बाद महाराष्ट्र में शिवसेना बीजेपी से अधिक सीटों की मांग कर रही है। सूत्रों की माने तो शिवसेना लोकसभा की 48 सीटों में से 30 सीटें मांग रही है जबकि वह बीजेपी को 18 सीटें ही देना चाहती है।

इसलिए माना जा रहा है कि ऐसे हालातो में बीजेपी शिवसेना के बीच गठबंधन की उम्मीद समाप्ति की तरफ है और दोनों पार्टियां अलग अलग चुनाव लड़ने का मन बना रही हैं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
loading...