क्या आसाराम भी हो जायेंगे क्लीन ? आज आएगा फैसला

नई दिल्ली। देशभर में इस बात को लेकर चर्चा गर्म है कि क्या साध्वी प्रज्ञा, कर्नल पुरोहित, असीमानंद और माया कोडनानी के बाद जोधपुर जेल में बंद संत आसाराम भी क्लीन हो जायेंगे ? हालाँकि आसाराम का मामला अन्य लोगों से अलग है।

सभी की निगाहें आज आने वाले अदालत के फैसले पर टिकी हैं। संत आसाराम समर्थको ने खासतौर पर आज कई जगह विशेष पूजा का आयोजन भी किया। आसाराम बापू के अनुयाइयों को भरोसा है कि आसाराम बापू निर्दोष हैं और कल उन्हें क्लीन चिट मिल जाएगी।

आसाराम रेप के आरोप में जोधपुर जेल में बंद हैं। राजस्थान हाईकोर्ट के निर्देशों के मुताबिक निचली अदालत मामले के सिलसिले में जोधपुर सेन्ट्रल जेल परिसर में आज अपना फैसला सुनाएगी।

जोधपुर जेल के हॉल में लगेगी अदालत

​जेल का हॉल कोर्ट रूम के लिए तैयार है। यह वही हॉल हैं जहां 31 साल पहले टाडा कोर्ट बनी थी और कठघरे में अकाली नेता गुरचरण सिंह टोहरा खड़े थे। वहीं आसाराम और उनके चार साधक भी अपना फैसला सुनेंगे। जेल में फैसला सुनाने के देश में चंद उदाहण हैं।

इससे पहले इंदिरा गांधी के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए तिहाड़ जेल में अदालत लगी थी। उसके बाद आतंकी अजमल आमिर कसाब को सजा सुनाने के लिए मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में अदालत लगी थी। हरियाणा के सुनारिया जेल में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सजा सुनाने के लिए अदालत लगी थी।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

डीजीआई ( जेल ) विक्रम सिंह ने मीडिया को बताया, ‘‘हमने फैसला सुनाये जाने के दिन के लिए सभी प्रबंध किए हैं। जेल परिसर में अदालत कक्ष में अदालत के कर्मचारियों सहित मजिस्ट्रेट, आसाराम और सह आरोपी , बचाव एवं अभियोजन पक्ष के वकील मौजूद रहेंगे।’’ विशेष अदालत में एससी / एसटी मामलों पर सात अप्रैल को अंतिम दलीलें पूरी हुयी थी और अदालत ने फैसला सुनाने के लिए 25 अप्रैल की तारीख निर्धारित की थी।

जोधपुरी डीसीपी ( पूर्व ) अमन दीप सिंह ने बताया, ‘‘ हमने 21 अप्रैल से शहर में सीआरपीसी की धारा 144 लगा दी है और यह 30 अप्रैल तक जारी रहेगी। इसके अलावा , हम शहर में आसाराम के आश्रमों पर करीबी नजर रख रहे हैं और सभी होटलों और अतिथिशालाओं के साथ – साथ बसस्टैंड और रेलवे स्टेशनों की जांच कर रहे हैं।’’

सिंह ने बताया , ‘‘ हम फैसला सुनाये जाने के दिन जेल को सील कर देंगे और किसी को भी जेल परिसर के करीब आने की अनुमति नहीं दी जाएगी। ’’

क्या है मामला

​उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर की एक किशोरी लड़की की शिकायत पर आसाराम को गिरफ्तार किया गया था। वह मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में आसाराम के आश्रम में पढ़ाई कर रही थी।

पीड़िता ने आरोप लगाया था कि आसाराम ने जोधपुर के मनाई इलाके में स्थित अपने आश्रम में उसे बुलाया और 15 अगस्त 2013 की रात में उसके साथ बलात्कार किया। आसाराम को इंदौर में गिरफ्तार किया गया और एक सितंबर 2013 को जोधपुर लाया गया। वह दो सितंबर 2013 से न्यायिक हिरासत में हैं।

Share

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें