कैराना में कांग्रेस देगी विपक्ष के उम्मीदवार को समर्थन

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के कैराना लोकसभा सीट पर होने जा रहे उपचुनाव में कांग्रेस अपना उम्मीदवार नही उतारेगी बल्कि विपक्ष की उम्मीदवार तबस्सुम हसन को अपना समर्थन देगी।

बता दें कि इससे पहले फूलपुर और गोरखपुर सीट पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने अपने उम्मीदवार खड़े किये थे। सेकुलर मतो का विभाजन रोकने के लिए अब कांग्रेस ने तय किया है कि वह कैराना और नूरपुर में अपने उम्मीदवार खड़े नही करेगी। राज्य में होने वाले उपचुनाव के लिए 28 मई को वोट डाले जाएंगे।

कैराना लोकसभा उपचुनाव में राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) की प्रत्याशी तबस्सुम हसन को समाजवादी पार्टी ने समर्थन देना तय किया है, तो अखिलेश यादव ने नूरपुर विधानसभा क्षेत्र से उपचुनाव में नईमुल हसन को पार्टी का प्रत्याशी घोषित किया है।

2014 के लोकसभा चुनाव में कैराना सीट पर हुकुम सिंह को पांच लाख 65 हजार वोट मिले थे, जबकि उनके प्रतिद्वन्दी सपा के नाहिद हसन को तीन लाख तीस हजार वोट मिले थे। नूरपुर विधानसभा सीट पर 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लोकेंद्र सिंह को 79 हजार वोट प्राप्त हुये थे, जबकि सपा के नईमुल हसन को 66 हजार 436 वोट मिले थे।

कैराना में भारतीय जनता पार्टी ने यहाँ से सांसद रहे हुकुम सिंह की बेटी को चुनाव मैदान में उतारा है। यहाँ मुख्य मुकाबला विपक्ष की संयुक्त उम्मीदवार तबस्सुम हसन और बीजेपी उम्मीदवार म्रगांका सिंह के बीच होना तय माना जा रहा है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें