केरल में जनता ने बीजेपी को फिर नकारा, उपचुनाव में वामदलों, कांग्रेस का दबदबा कायम

नई दिल्ली। सबरीमाला मंदिर विवाद में कूदी बीजेपी की मेहनत उस समय व्यर्थ सिद्ध हुई जब स्थानीय निकायों के उपचुनाव में बीजेपी को सिर्फ दो ही सीटों से संतोष करना पड़ा।

वहीँ वामदलों और कांग्रेस का जलवा बरक़रार रहा। कुल 39 सीटों के लिए हुए स्थानीय निकाय उपचुनावों में वामदलों के गठबंधन डेमोक्रेटिक फ्रंट(एलडीएफ) को 21 सीटें तथा कांग्रेस नेतृत्‍व वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट(यूडीएफ) को 12 सीटें मिली हैं।

गौरतलब है कि सबरीमाला मंदिर मामले महिलाओं को मंदिर में प्रवेश की इजाजत देने वाले सुप्रीमकोर्ट के आदेश का विरोध करके बीजेपी ने हिंदुत्व की अलख जगाने की पुरजोर कोशिश की थी लेकिन उपचुनाव में जनता ने बीजेपी की कोशिशों को ख़ारिज कर दिया।

इतना ही नहीं सबरीमाला मंदिर मामले में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह तुरंत केरल पहुंचे थे और उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए सुप्रीमकोर्ट के निर्णय के खिलाफ बयान भी दिया था। तब बीजेपी को उम्मीद थी कि इससे वह हिन्दू मतदाताओं को अपने साथ जोड़ने में सफल होगी।

लेकिन बीजेपी की इस मुहिम का केरल की जनता पर कितना असर पड़ा ये निर्णय आने में बहुत समय नहीं लगा। स्थानीय निकाय के उपचुनाव के आये परिणाम बीजेपी के लिए इस बात का प्रमाण हैं कि उसे जनता ने एक बार फिर ख़ारिज कर दिया है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें