कुछ लोग देश का माहौल ख़राब होने का भ्रामक प्रचार कर रहे हैं: पीएम मोदी

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संत कबीर की जन्मस्थली मगहर(संत कबीर नगर) में कहा कि कुछ लोग देश का माहौल ख़राब होने का भ्रामक प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि समाजवाद और बहुजन की बात करने वालों का सत्ता के प्रति लालच आप देख रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि 2 दिन पहले देश में आपातकाल को 43 साल हुए हैं। सत्ता का लालच ऐसा है कि आपातकाल लगाने वाले और उस समय आपातकाल का विरोध करने वाले एक साथ आ गए हैं। ये समाज नहीं, सिर्फ अपने और अपने परिवार का हित देखते हैं।

उन्होंने कहा कि कुछ दल बस कलह और राजनीति चाहते हैं, ये दल समाजवाद और बहुजन वाद के नाम पर ढोंग कर रहे हैं, ये वही लोग हैं जिन्होंने अपने लिए करोड़ों के बंगले बनवाए हैं, ऐसे लोगों से यूपी के लोगों को सावधान रहने की जरूरत है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के बंगला प्रकरण पर पीएम ने बिना नाम लिए कहा कि कुछ लोगों का मन अपने आलीशान बंगले से लगा हुआ है।

पीएम ने कहा कि मैं इस पावन धरती को प्रणाम करता हूं। पीएम ने कहा कि संत कबीर, गुरु ननाकदेव जी ने आध्यातिमिक चर्चा की थी। मगहर आकर मैं एक अद्भुत अनुभव कर रहा हूं। आज ही से भगवान भोलेनाथ की यात्रा भी शुरू हो रही है। मैं तीर्थयात्राओं को सुखद यात्रा के लिए शुभकामना देता हूं।

500वीं पुण्यतिथि पर साल भर के लिए कबीर महोत्सव की शुरुआत हुई है। कबीरजी मानवता के लिए जो फल छोड़ गए हैं उसका लाभ हमें मिलना है। तीर्थ जाने से एक फल से मिलता है। संत की संगत से चार फल मिल सकते हैं। मगहर के इस तीर्थस्थल में होने वाला यह उत्सव ऐसा ही फल देगा।

पीएम ने कहा कि 24 करोड़ रुपए खर्च करके यहां कबीर से जुड़े संस्थाओं का निर्माण करने का काम किया जाएगा। संत कबीर अकदामी यूपी की लोक लिधाओं और भाषाओं के संरक्षण का काम करेगी। सत्य की खोज और असत्यता के खंडन में बिती। वह अपने जन्म से नहीं बलिक अपने कर्म से धन्य हो गए हैं।

पीएम ने कहा कि कबीर विचार बनकर आए और व्यवहार बनकर अमर हो गए। समाज को केवल दृष्टि देने का ही नहीं बल्कि चेतना के जागरण का भी काम किया। इसके लिए वह काशी से मगहर आए। अगर हृदय में राम बसते हैं तो मगहर भी पवित्र है। काशी ने कबीर को आध्यात्मिक चेतना और गुरु से मिलाया था। कबीर ने साधारण ग्रामीण की बात को उसकी भाषा में पिरोया था। जाति को नहीं माना। अपने मन के अंदर वास करने वाले भगवान को पाने का रास्ता दिखाया।

पीएम ने कहा कि कबीर के दोहों को समझने के लिए किसी शब्दकोश की जरुरत नहीं है। जीवन के रहस्यों को सरलता से लोगों को समझा दिया। अपने को सुधारो तो हरि मिल जाएंगे।

पीएम ने कहा कि हमारे देश की आंतरिक बुराईयों को खत्म करने के लिए समय-समय पर ऋषि मुनियों ने मार्ग दिखाया है। समाज को रास्ता दिखाने के लिए बुद्ध पैदा हुए, महावीर आए, कबीरदास आए, अपनेक संतों की श्रृंखला हमें मार्ग दिखाती रही है। ऐसी पुण्यताओं ने जन्म लिया जिन्होंने देश की आत्मा को बचाने का काम किया।

उन्होंने कहा कि इन्हीं संतों-महापुरुषों के प्रभाव से हिंदुस्तान तमाम विपत्तियों को सहकर भी महान बन पाया और परेशानियों से निकल पाया। रामानंद ने कबीर को राम नाम की राह दिखाई। इसी राम नाम के सहारे कबीर आज पीड़ियों को सचेत कर रहे हैं।

बाबा साहेब ने हमें संविधान दिया। एक नागरिक के तौर पर सभी को बराबरी का अधिकार दिया। इन महापुरुषों के नाम पर राजनीतिक धारा बनाई जा रही है जिससे देश को तोड़ने का काम किया जा रहा है। कुछ राजनीतिक दल जितना अशांति का माहौल बनाएंगे उन्हें फायदा होगा। सच यह है कि ऐसे लोग जमीन से कट चुके हैं।

योगी सरकार की प्रशंसा करते हुए मोदी ने कहा कि पहले यूपी की सरकार को अपने बंगलों से प्यार था। जब से योगीजी की सरकार आई उसके बाद यूपी में गरीबों के लिए रिकॉर्ड घरों का निर्माण किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज भारत में हर क्षेत्र के विकास का विश्वास जगा है, आज हर गरीब को सिर ढकने के लिए आवास देने का काम किया जा रहा है। सीएम ने कहा कि स्वच्छता को बढ़ावा देते हुए एक साल के अंदर प्रदेश में 72 लाख से भी ज्यादा शौचालय का निर्माण किया गया है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा ने कहा कि कबीर साहब के सपनों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साथ लेकर चल रहे हैं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *