किम-ट्रंप बैठक: अमेरिका-उ.कोरिया में हुआ करार, किम पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए राजी

नई दिल्ली। लंबे समय तक चले विवाद के बाद अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच दस्तावेज पर हस्ताक्षर हुए। जिसमें परमाणु हथियारों के खात्मे का अहम करार भी शामिल है।

किम ने कहा कि लोगों को ये मुलाकात किसी साइंस फिक्शन फिल्म की तरह लग सकती है। ट्रंप और किम के बीच यह मुलाकात सिंगापुर के लोकप्रिय पर्यटन स्थल सेंटोसा के एक होटल में हुई। इस बैठक का मक्सद द्विपक्षीय संबंधों को सामान्य बनाना और कोरियाई प्रायद्वीप में पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण रहा।

किम के साथ बातचीत के बाद ट्रंप ने पत्रकारों से कहा कि उनकी बातचीत अच्छी रही। अब दोनों देशों के बीच डेलिगेशन लेवल की बैठक चल रही है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और उत्‍तर कोरिया के शासक किम जोंग उन की बीच बैठक करीब 50 मिनट चली।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के प्रमुख किम जोंग उन ने सिंगापुर के सेंटोसा द्वीप में एक दूसरे से हाथ मिलाया और हंसकर बातचीत भी की। अमेरिका का कोई सिटिंग राष्ट्रपति पहली बार किसी उत्तर कोरियाई नेता से मिला है। वहीं, सत्ता संभालने के 7 साल बाद किम जोंग उन पहली बार इतनी लंबी विदेश यात्रा पर आए हैं।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उम्मीद जताई कि यह शिखर वार्ता ‘जबरदस्त कामयाबी’ वाली होगी। ट्रंप ने कहा, “आगे हमारे रिश्ते बेहद शानदार होंगे। वास्तव में बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं, हम बेहद अच्छी चर्चा करने वाले हैं और हमारे रिश्ते शानदार होंगे, इसमें मुझे कोई संदेह नहीं है।”

उत्तर कोरियाई नेता ने कहा कि सिंगापुर में आज हो रही बैठक की राह में कई ‘रोड़े’ थे। उन्होंने बताया, “हमने उन बाधाओं को पार किया और आज हम यहां हैं।”

माना जा रहा है कि ट्रंप और किम जोंग के बीच हो रही यह पहली शिखर वार्ता ट्रंप और किम के बीच कभी बेहद तल्ख रहे रिश्तों को भी बदलने वाली सिद्ध होगी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *