कासगंज हिंसा: अब सहारनपुर की महिला अधिकारी ने लिखा भगवा ने चंदन को मारा

नई दिल्ली। कासगंज हिंसा को लेकर बरेली के जिलाधिकारी और हरियाणा के एक आईएएस अधिकारी के बाद सहारनपुर की एक महिला अधिकारी ने चंदन गुप्ता की मौत के लिए आरएसएस, बीजेपी और हिन्दू संगठनों को ज़िम्मेदार ठहराया है।

सहारनपुर में तैनात डिप्टी डायरेक्टर सांख्यिकी रश्मि वरुण ने फेसबुक पोस्ट मेंकहा कि कासगंज में चंदन गुप्ता को खुद भगवा ने ही मारा है। कासगंज हिंसा की सहारनपुर हिंसा से तुलना करते हुए महिला अधिकारी ने 28 जनवरी को अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि “तो ये थी कासगंज की तिरंगा रैली, यह कोई नई बात नहीं है।”

महिला अधिकारी ने लिखा कि “अंबेडकर जयंती पर सहारनपुर के सड़क दूधली में भी ऐसी ही रैली निकाली गई थी। उसमें से अंबेडकर गायब थे या कहिए कि भगवा रंग में विलीन हो गये थे। कासगंज में भी यही हुआ. तिरंगा गायब और भगवा शीर्ष पर। जो लड़का मारा गया, उसे किसी दूसरे, तीसरे समुदाय ने नहीं मारा। उसे केसरी, सफेद और हरे रंग की आड़ लेकर भगवा ने खुद मारा। “

डिप्टी डायरेक्टर सांख्यिकी रश्मि वरुण ने अपनी पोस्ट में लिखा, ‘जो नहीं बताया जा रहा है वो ये कि अब्दुल हमीद की मूर्ति या तस्वीर पे तिरंगा फहराने की बजाय इस तथाकथित तिरंगा रैली में चलने की जबरदस्ती की गई और केसरिया, सफेद, हरे और भगवा रंग पे लाल रंग भारी पड़ गया।”

गौरतलब है कि इससे पहले बरेली के जिलाधिकारी आरवी सिंह ने तिरंगा यात्रा को लेकर सवाल उठाते हुए अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि “अजब रिवाज बन गया है। मुस्लिम मुहल्लों में जबर्दस्ती जुलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ. क्यों भाई वे पाकिस्तानी हैं क्या? यही यहां बरेली में खैलम में हुआ था. फिर पथराव हुआ, मुकदमे लिखे गए।”

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *