कांग्रेस ने राफेल को बताया ‘भ्रष्टाचार का खेल’, अब सडक पर होगा जन आंदोलन

नई दिल्ली। राफेल विमान डील में घोटाले का आरोप लगा रही कांग्रेस ने इसे अब जनता के बीच ले जाने का फैसला किया है। राफेल मामले को लेकर अब कांग्रेस एक बड़ा जन आन्दोलन शुरू करेगी। इसके तहत देश के सभी जिला एवं प्रांतीय मुख्यालयों पर पार्टी धरना देगी।

पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में आज हुई महासचिवों, राज्य प्रभारियों, प्रदेश अध्यक्षों और विधायक दल के नेताओं की बैठक में यह फैसला किया गया। पार्टी सूत्रों की माने तो अब कांग्रेस राफेल मामले की लड़ाई सडक पर लड़ेगी।

पार्टी सूत्रों के अनुसार प्रदेश इकाइयों को कहा गया है कि वे राफेल मुद्दे की हकीकत जनता के समक्ष पेश करें और मोदी सरकार के कथित भ्रष्टाचार को बेनकाब करें। इसके लिए प्रदेश से लेकर जिला स्तर पर कांग्रेस कार्यकर्त्ता प्रदर्शन करेंगे और धरने देंगे।

बैठक के बाद पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘‘आज की बैठक में देश के राजनीतिक हालात पर चर्चा हुई। जिस प्रकार से मोदी सरकार भ्रष्टाचार पर पर्दा डाल रही है, जिस प्रकार से राफेल में भ्रष्टाचार का खेल चला और चौकीदार भागीदार बन गया, उस पर व्यापक रूप से चर्चा की गई।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार के भ्रष्टाचार और राफेल को लेकर यह निर्णय किया गया कि जिला स्तर से लेकर प्रांतीय स्तर पर जनांदोलन शुरू किया जाएगा। कांग्रेस के सभी महासचिव, सचिव और दूसरे पदाधिकारी हर प्रांत में जाएंगे और हम यह सुनिश्चित करेंगे कि राफेल सौदे की सच्चाई का देश को पता चले।’’

सुरजेवाला ने कहा, ‘‘हम यह सुनिश्चित करेंगे कि इस मामले में निष्पक्ष जांच हो और संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) जेपीसी की जांच हो।’’ उन्होंने कहा कि जनांदोलन का पूरा कार्यक्रम जल्द तय किया जाएगा।

गौरतलब है कि राफेल डील में अनियमितताओं और भ्रष्टाचार का आरोप लगा रही कांग्रेस इस मामले को संसद में कई बार उठा चुकी है। इतना ही नही स्वयं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर सरकार के समक्ष सवाल उठाये हैं।

कांग्रेस सहित विपक्ष की मांग है कि राफेल डील की जांच संसदीय समिति से कराई जाये, जबकि सरकार की तरफ से इस मामले में अलग अलग बयान आते रहे हैं। हालाँकि सरकार राफेल डील में किसी तरह के भ्रष्टाचार या अनियमितताओं से इनकार कर रही है लेकिन सरकार राफेल विमानों की कीमत भी नहीं बता रही है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *