कांग्रेस नेता ने गुजरात के सीएम को भेजा नोटिस, कहा ‘माफ़ी मांगो या झेलो मानहानि का केस’

अहमदाबाद। कांग्रेस नेता और बिहार के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने गुजरात के सीएम विजय रुपाणी को नोटिस भेजकर कहा है कि या तो वे अपने कहे के लिए माफ़ी मांगे या मानहानि का मुकदमा झेलने के लिए तैयार रहें।

शक्ति सिंह गोहिल ने यह नोटिस सीएम विजय रूपाणी के उस बयान के लिए भेजा है जिसमे उन्होंने पत्रकारों से बातचीत के दौरान गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमलो के लिए कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल और अल्पेश ठाकोर को ज़िम्मेदार बताया था।

गौरतलब है कि गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमलो के दौरान रूपाणी लखनऊ आये थे। उन्होंने लखनऊ में यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में यह बयान दिया था।

शक्ति सिंह गोहिल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि बिना किसी ठोस प्रमाण के किसी को ज़िम्मेदार ठहराना गलत है। आज मैंने उन्हें लीगल नोटिस भेजा है। यदि वे 15 दिन के अंदर सीएम रुपाणी माफी नही मांगते है और अपने बयान को नहीं सुधारते हैं तो वे उन पर केस करेंगे।

उन्होंने कहा कि सीएम विजय रुपाणी बिहार से डरते हैं,अगर उनमें साहस होता तो वे लखनऊ की जगह पटना में प्रेस कांफ्रेंस करते। उन्होंने उत्तर भारतीयों पर हमले के लिए सीएम विजय रूपाणी को ज़िम्मेदार बताया।

गोहिल ने कहा कि सीएम रुपाणी के स्‍थानीय लोगों को नौकरियों में 80 प्रतिशत आरक्षण देने वाले बयान के चलते यह हिंसा हुई। उन्होंने कहा कि गुजरात की सरकार ने अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए यह सब सुनियोजित तरीके से किया है ताकि लोग बढ़ती महंगाई, रोजगार, फसलों के दाम पर बात न करें।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें