कांग्रेस-जेडीएस को राहत, मायावती ने बीएसपी विधायक से सरकार के पक्ष में मतदान को कहा

नई दिल्ली। कर्नाटक में सरकार बचाने के प्रयासों में जुटी कांग्रेस-जेडीएस सरकार के लिए आज उस समय राहतभरी खबर आयी जब बसपा सुप्रीमो मायवती ने बसपा विधायक को सरकार के पक्ष में मतदान करने का निर्देश दिया।

इससे पहले आज बसपा विधायक एन महेश ने कहा था कि ‘मैं मायावती जी के निर्देशानुसार कल कर्नाटक विधानसभा में विश्वास मत में भाग नहीं लूंगा।’ इसके बाद कयास लगाए जाने लगे कि सत्तारूढ़ कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार का एक और विधायक का समर्थन कम हो गया है।

15 बागी विधायकों के इस्तीफे का मामला अभी तक हल नहीं हो सका है। इसलिए बहुमत के लिए ज़रूरी नंबर जुटाने में लगी कांग्रेस-जेसीएस के लिए एक एक विधायक अहम है।

इस बीच आज बागी विधायकों ने नरमी के संकेत दिए हैं। माना जा रहा है कि बागी विधायकों से कांग्रेस और जेडीएस के नेता सम्पर्क बनाये हुए हैं और उनसे बातचीत जारी है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक बागी विधायकों ने कहा कि ‘हम किसी और नीयत से मुंबई नहीं आये हैं, बल्कि राज्य की कांग्रेस जेडीएस सरकार को सबक सिखाने आये हैं। हम यहाँ पैसा या किसी और चीज़ की चाहत में नहीं आये। मामला सुलझते ही हम बेंगलुरु वापस चले जायेंगे।’

ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि बागी विधायकों की सरकार से नाराज़गी को दूर करने के लिए कांग्रेस जेडीएस की तरफ से प्रयास किये जा रहे हैं। गौरतलब है कि कर्नाटक विधानसभा में गुरूवार और शुक्रवार को विश्वासमत पर चर्चा के बाद सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया था।

माना जा रहा है कि कल विश्वास मत पर विधानसभा में वोटिंग कराई जा सकती है। पंद्रह बागी विधायकों के इस्तीफे के बाद कांग्रेस जेडीएस सरकार के पास बहुमत का टोटा पड़ता दिख रहा है। यदि बागी विधायक नहीं माने तो सरकार का गिरना तय है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें