कांग्रेस के बिना उत्तर प्रदेश में सपा बसपा गठबंधन बनाने से सपा का इंकार

लखनऊ / दिल्ली। समाजवादी पार्टी ने उन खबरों का खंडन किया है जिनमे आज कहा गया था कि 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को गठबंधन से बाहर रखकर सपा और बसपा गठबंधन कर रहे हैं और इसकी घोषणा 15 जनवरी को बसपा प्रमुख मायावती के जन्मदिन पर की जायेगी।

दिल्ली में समाजवादी पार्टी के सांसद ने ऐसी खबरों का खंडन किया। उन्होंने कहा कि महागठबंधन को लेकर अभी कुछ भी तय नहीं है। वहीँ लखनऊ में समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील साजन ने कहा कि कांग्रेस गठबंधन का हिस्सा होगी या नहीं होगी, अभी इस पर कुछ भी तय नहीं हुआ है और इसका आखिरी फैसला अखिलेश यादव ही लेंगे।

इससे पहले आज यह खबर आयी थी कि 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में महागठबंधन का प्रारूप तय हो गया है। इस गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि इस गठबंधन में समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल को शामिल किया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि सपा, बसपा और रालोद के बीच सीटों का बंटवारा भी तय हो चूका है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक बहुजन समाज पार्टी प्रदेश की 39 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी वहीँ समाजवादी पार्टी को 38 लोकसभा सीटें मिलना तय हुआ है तथा राष्ट्रीय लोकदल को 03 सीटें दी गयी हैं।

यह खबर मीडिया में आने के बाद समाजवादी पार्टी को इसका खंडन करना पड़ा है। दिल्ली में पार्टी के सांसद रामगोपाल यादव और लखनऊ में समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता ने गठबंधन की खबरों का खंडन करके इस पर विराम लगाने की कोशिश की है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें