Live: कांग्रेस की याचिका पर अभी रात पौने दो बजे सुप्रीमकोर्ट करेगा सुनवाई

नई दिल्ली। कर्नाटक में राज्यपाल वजु भाई वाला द्वारा सरकार बनाये जाने के लिए बीजेपी को आमंत्रित किये जाने और बहुमत साबित करने के लिए पंद्रह दिनों का समय दिए जाने को लेकर कांग्रेस द्वारा सुप्रीकोर्ट में दाखिल की गयी याचिका पर 1.45 बजे सुनवाई होगी।

जानकारी के मुताबिक इस मामले की सुनवाई जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस अर्जन कुमार सीकरी और जस्टिस शरद अरविंद बोबडे करेंगे । कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट कर कहा, सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को सुनवाई के लायक समझा है।

इससे पहले राज्यपाल द्वारा बहुमत सिद्ध करने के लिए बीजेपी को पंद्रह दिनों का समय देने पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस ने कर्नाटक के राज्यपाल के फैसले के खिलाफ अपनी याचिका पर उच्चतम न्यायालय में बुधवार देर रात सुनवाई की मांग की थी।

कांग्रेस प्रवक्‍ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, हम अमित शाह जी से जानना चाहते हैं कि अगर दो दल चुनाव के बाद गठबंधन के लिए साथ नहीं आ सकते तो आपने गोवा और मणिपुर में सबसे बड़ी पार्टी को किनारे कर कैसे सरकार बना ली? उन्‍होंने कहा, हम सभी कानूनी और संवैधानिक अधिकारों का प्रयोग करेंगे. हम जनता की अदालत में जाएंगे।

सुप्रीमकोर्ट से बर्खास्त होंगे येदुरप्पा:

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट कर कहा है कि विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए राज्यपाल द्वारा 15 दिनों का समय दिया जाना पुराने केसों की याद दिलाता है।

उन्होंने पुराने उदाहरण याद दिलाते हुए कहा कि इससे पहले भी बहुमत से कम संख्या होने पर सरकार बनाने का दावा किया गया, मुख्यमंत्री पद की शपथ ली गई लेकिन कोर्ट ने न्याय करते हुए अल्पमत दल के मुख्यमंत्री को बर्खास्त कर दिया।

सिंघवी ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश में जगदंबिका पाल, झारखंड में अनिल झा और गोवा में केवालकर को बर्खास्त किया था। सुप्रीम कोर्ट ने इन मामलों में 48 घंटे या सात दिनों के भीतर ही फैसला सुना दिया था। सुप्रीम कोर्ट के पास कर्नाटक मसले में इससे अलग फैसला करने का कोई अन्य उचित कारण नहीं है।

सिंघवी का कहना है कि भाजपा के पास विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए पर्याप्त संख्या बल नहीं है जबकि कांग्रेस ने राज्य पाल को पहले ही 116 सदस्यों की सूची सौंप दी है. ऐसे में कांग्रेस और जेडी(एस) का संयुक्त दल बहुमत में है।

बीजेपी पर विधायकों की खरीद फरोख्त की कोशिशों का आरोप:

इस बीच कांग्रेस नेता एएल. पाटिल बय्यापुर ने दावा किया है कि उनके पास भाजपा नेताओं का कॉल आया था जो उन्हें मंत्री पद का लालच दे रहे थे। बय्यापुर ने ने कहा है कि मुझे भाजपा नेताओं ने कॉल किया और कहा कि हम आपको मंत्रालय देंगे. मंत्री बना देंगे… लेकिन मैं उनसे कहना चाहूंगा कि मैं यहीं रहूंगा…एचडी कुमरस्वामी हमारे मुख्‍यमंत्री हैं…

वहीँ दूसरी तरफ भाजपा नेता केएस ईश्वरप्पा ने कहा है कि इसमें कोई शक ही नहीं है कि सरकार हम ही बनाएंगे। 100 प्रतिशत सरकार हम बनाएंगे, आप बस देखते जाइए. नतीजे कल ही आए हैं, अभी बस एक ही दिन बीता है।

कांग्रेस और जेडीएस के सभी विधायक मौजूद:

कांग्रेस और जनता दल सेकुलर ने बीजेपी की तरफ से विधायकों की खरीद फरोख्त की कोशिशों को देखते हुए अपने सभी विधायकों को एक जगह कर लिया है। कांग्रेस ने कन्फर्म किया कि उसके सभी विधायक मौजूद हैं। पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने कहा कि हमारे सभी विधायक मौजूद हैं और कोई भी विधायक मिसिंग नहीं हैं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें