कांग्रेस का अल्टीमेटम ‘झोला उठाकर निकलने की तैयारी कर लें’

नई दिल्ली। बीजेपी के आरोपों पर कांग्रेस ने पलटवार करते हुए मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा किया है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि न नौकरी, ना रोजगार, युवाओं के भविष्य में फैलाया अंधकार, अर्थव्यवस्था का बंटाधार, झोला उठा हो जाइये जाने को तैयार।

सुरजेवाला ने कहा कि इस बार जनता बदलेगी ये निकम्मी सरकार। उन्होंने कहा मोदीनामिक्स अब पकौड़ानामिक्स हो गया है। आर्थिक विकास 5 साल के निचले स्तर पर है। फार्म इनकम ग्रोथ 14 साल के निचले स्तर पर है।

सुरजेवाला ने कहा कि ताजा निवेश 14 साल के निचले स्तर पर है। निजी निवेश 7 साल के निचले स्तर पर हैं। औद्योगिक विकास 1.7% (एक वर्ष पहले 7.5% से कम) पर है। घरेलू बचत 20 साल से कम है। एफडीआई ग्रोथ 5 साल के निचले स्तर पर है। कोर सेक्टर ग्रोथ 2 साल के निचले स्तर पर है। निर्यात में वृद्धि (यूपीए की तुलना में) में 15 गुना की गिरावट आई है।

उन्होंने कहा कि CMIE के सर्वेक्षण के अनुसार, बेरोजगारी दर 7.2% को छू रही है. एनएसएसओ की रिपोर्ट के अनुसार, बेरोजगारी दर 6.1% है. युवाओं के लिए बेरोजगारी की दर 13-27 फीसदी के खतरनाक स्तर पर है। यह पिछले 45 साल में सबसे अधिक है।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी के कारण छोटे-मध्यम उद्योग चौपट हो गए और नौकरियां खत्म हो गई। सुरजेवाला ने कहा कि ग्रामीण पुरुषों के बीच बेरोजगारी (15 वर्ष से 29 वर्ष की आयु के बीच) 2011-12 में 5% से बढ़कर 2017-18 में 17% हो गई है। ग्रामीण महिलाओं के बीच (15 वर्ष से 29 वर्ष की आयु तक) बेरोजगारी 2011-12 में 4.8% से बढ़कर 2017-18 में 13.6% हो गई है।

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार की नीति अयोग ने फरवरी 2018 में स्वीकार किया है कि भारत ‘असंतोषजनक नौकरियों और बेरोजगारी’ से त्रस्त है।

 

उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय निर्माता संगठन ने भी दिसंबर 2018 में कहा कि 2016 के बाद से अकेले सेक्टर में 35 लाख नौकरियों का नुकसान हुआ, जिसके दो मुख्य कारण नोटबंदी और जीएसटी है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और बीजेपी के ‘पान-पकौडोमिक्स’ से हटकर एक निर्णायक ‘जॉब सेंट्रिक ग्रोथ एजेंडा’ बनाने का समय आ गया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें