कहाँ है नजीब : 10 महीने बाद भी नहीं मिला कोई सुराग, सीबीआई को कोर्ट की फटकार 

नई दिल्ली। जेएनयू से लापता हुए छात्र नजीब अहमद की गुमशुदगी के दस महीने बाद भी कोई सुराग नहीं मिलने से नजीब के परिजनों का धैर्य जबाव देने लगा है। इस मामले में पहले दिल्ली पुलिस की एसआईटी, उसके बाद दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच और अब सीबीआई जांच कर रही है। मंगलवार को इस मामले में हाइकोर्ट ने सीबीआई को फटकार लगाई।

मंगलवार को ही इस मामले में दिल्ली हाइकोर्ट ने जांच एजेंसी सीबीआई को पुरानी स्टेटस रिपोर्ट सौपें जाने पर कड़ी फटकार लगाते हुए कहा था कि इस केस जांच आपको मज़ाक के लिए नहीं दिया गया था।

नजीब अहमद बीते साल 15 अक्टूबर को जेएनयू से एवीबीपी के कुछ छात्रों से झगड़े के बाद गायब हो गया था। पहले इस मामले की जांच दिल्ली पुलिस कर रही थी लेकिन इसी साल 25 मई को हाइकोर्ट के आदेश पर मामले की जांच सीबीआई ने शुरू की।  नजीब की सूचना देने वाले को सीबीआई ने 10 लाख रुपये देने की घोषणा भी की लेकिन कामयाबी नहीं मिली।

बुधवार को इस नजीब के घरवालों ने सीबीआई मुख्यालय के बाहर नजीब के घरवालों और उसके जेएनयू के कुछ छात्रों ने प्रदर्शन किया। बुधवार को सीबीआई मुख्यालय का मुख्य रास्ता घण्टों बंद रहा, जेएनयू के गायब छात्र नजीब अहमद के घरवाले और उसके दोस्त इंसाफ की मांग को लेकर मुख्यालय के बाहर बैठे रहे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें