कल्याण सिंह बोले ‘जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने का समय’

नई दिल्ली। राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह ने कहा है कि ‘जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाली धारा 370 को समाप्त करने का समय आ गया है।’ उन्होंने कहा कि इससे अलगाववादियों को प्रोत्साहित मिलता है और देश की एकता और अखंडता के लिए खतरा पैदा होता है।’

पुलवामा के बाद आये कल्याण सिंह के इस बयान के कई मतलब निकाले जा रहे हैं। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने का मुद्दा उछालना चाहती है।

इससे पहले पुलवामा हमले को लेकर मेघालय के राज्यपाल तथागत रॉय ने जम्मू कश्मीर से सामान की खरीदारी समेत हर कश्मीरी चीज का बहिष्कार करने का आह्वान किया था।

पुलवामा हमले के बाद शहीदों के अंतिम संस्कार को लेकर बीजेपी नेताओं से जिस तरह का रुख दिखाया है उससे लगता है कि बीजेपी पूरी तरह चुनावी मोड में आ चुकी है और वह पुलवामा हमले के मुद्दे को हिन्दू मतों के ध्रुवीकरण के लिए चुनाव में इस्तेमाल करेगी।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पुलवामा हमले की टाइमिंग को लेकर सवाल उठाये थे। ममता बनर्जी का कहना था कि बीजेपी देश का माहौल ख़राब करने की कोशिश कर रही है।

बुधवार को ममता ने ट्वीट कर कहा कि राजनीतिक दलों, समूहों का एक वर्ग संवैधानिक पदों पर आसीन लोगों के साथ खतरनाक बयानों के जरिए अफवाह और नफरत फैला रहा है। यहां तक कि पत्रकारों को भी नहीं बख्शा गया। यह शर्मनाक राजनीति है। हम किस तरह की दूषित राजनीति देख रहे हैं।

ममता ने पुलवामा हमले के समय को लेकर सोमवार को सवाल उठाया था कि क्या सरकार उस वक्त युद्ध चाहती है जब लोकसभा चुनाव नजदीक आ गए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने पठानकोट आतंकी हमले के बाद कुछ नहीं किया और अब चुनाव से पहले युद्ध की स्थिति पैदा करना चाहती है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
loading...