करीना कपूर से संजय दत्त तक, जिताऊ चेहरे टटोल रही कांग्रेस

नई दिल्ली। इस वर्ष होने जा रहे लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस कई राज्यों में अकेले लड़ने के हिसाब से अपने उम्मीदवारों की पैनल तैयार कर रही है। पार्टी इस बार अधिक से अधिक जिताऊ उम्मीदवरों को मैदान में उतारकर अधिक से अधिक सीटें जुटाने की कोशिश करेगी।

पार्टी सूत्रों की माने तो 2009 की तर्ज पर पार्टी कुछ बड़े चेहरों को टिकिट देने का मन बना रही है। सूत्रों के मुताबिक मध्य प्रदेश के दो कांग्रेस नेताओ ने आलाकमान से भोपाल लोकसभा सीट के लिए करीना कपूर को उम्मीदवार बनाये जाने की सिफारिश की है।

भोपाल लोकसभा सीट 1984 के बाद कांग्रेस के हाथ से जाती रही है और उसके बाद इस सीट पर लगातार बीजेपी का दबदबा बना रहा है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक नवाब सैफ अली खान की पत्नी करीना कपूर पटौदी खानदान की बहु होने के कारण भोपाल लोकसभा सीट पर फिट बैठती है। यदि सीट पर करीना को उम्मीदवार बनाया जाता है तो वे रिकॉर्ड मतो से कांग्रेस को ये सीट वापस दिला सकती हैं।

हालाँकि अभी तक इस मामले में पटौदी खानदान या करीना कपूर की तरफ से कोई दावेदारी या पेश नहीं की गयी है। इसके बावजूद कई मीडिया रिपोर्ट में इस तरह की संभावनाओं वाली खबरें प्रकाशित हुई हैं।

वहीँ मुंबई में पूर्व सांसद सुनील दत्त की बेटी प्रिय दत्त द्वारा निजी कारणों से लोकसभा चुनाव लड़ने से इंकार किये जाने के बाद अब माना जा रहा है कि प्रिय दत्त के भाई और बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त को कांग्रेस मैदान में उतार सकती है।

पार्टी सूत्रों की माने तो उत्तर प्रदेश में अधिक से अधिक सीटें जीतने की कवायद के तहत कांग्रेस राज्य में संजय दत्त को आगे ला सकती है। गौरतलब है कि संजय दत्त की मां नरगिस दत्त का परिवार उनके बचपन में पंजाब से इलाहाबाद शिफ्ट हो गया था। नरगिस दत्त का बचपन में इलाहाबाद से कनेक्शन होने के कारण संजय दत्त इलाहबाद को अपनी ननिहाल कहते रहे हैं।

सूत्रों ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सभी 80 लोकसभा सीटों पर दावेदारी पेश कर रही कांग्रेस की है कि वह रायबरेली और अमेठी के अलावा कम से कम 20 सीटों पर ऐसे चेहरे उतारे जो जिताऊ हों। गौरतलब है कि इससे पहले कांग्रेस पूर्व क्रिकेटर अज़हरुद्दीन को भी हैदराबाद से लाकर उत्तर प्रदेश की मुरादाबाद सीट से चुनाव लड़ा चुकी है।

पार्टी सूत्रों की माने तो पार्टी कई बड़े चेहरो के सम्पर्क में हैं। इसलिए इस बात की संभावनाएं अधिक हैं कि पार्टी अहम सीटों पर करिश्माई चेहरों के ज़रिये बीजेपी के बड़े नेताओं के सामने चुनौती पेश करे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें