कभी भी कांग्रेस में अपनी पार्टी का विलय कर घर वापसी कर सकते हैं अजीत जोगी

रायपुर। छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव से पहले कोंग्रस छोड़कर नई पार्टी बनाने वाले अजीत जोगी की पार्टी के अंदर सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है।

अजीत जोगी की पार्टी छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस ने राज्य में बसपा के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ा था लेकिन पार्टी का प्रदर्शन उम्मीदों पर खरा न उतरने के बाद पार्टी में टूट शुरू हो गयी।

अजीत जोगी की पार्टी से लोगों का जाना बदस्तूर जारी है। ऐसे में अजीत जोगी के पास दो ही विकल्प है। या तो वे बिना जनाधार वाली पार्टी के मुखिया बने रहे या कांग्रेस में घर वापसी करें।

वहीँ अब ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि अजीत जोगी जल्द ही कांग्रेस में अपनी पार्टी का विलय करके घर वापसी कर सकते हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के प्रमुख प्रवक्ता इकबाल रिजवी ने कहा कि अजीत जोगी और कांग्रेस पार्टी की विचार धारा एक ही है। ऐसे में अजीत जोगी की घर वापसी कभी भी किसी भी समय हो सकती है।

वहीं छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश बिस्सा का कहना है कि जोगी जी जिस भावना से कांग्रेस छोड़कर गए थे, पब्लिक ने उसे नकार दिया। अब उनकी और उनके लोगों की मजबूरी है कि वापस मुख्यधारा में जुड़ जाए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के दरवाज़े उन लोगों के लिए हमेशा खुले हैं जो सच में अच्छी भावना रखते थे।

फिलहाल देखना है कि अजीत जोगी की कांग्रेस में वापसी कब तक हो पाती है। सूत्रों की माने तो अजीत जोगी कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया से अपनी घर वापसी को लेकर बात कर चुके हैं। गौरतलब है कि अजीत जोगी की पार्टी छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव न लड़ने का फैसला किया है और उसने लोकसभा की सभी 11 सीटों पर बसपा उम्मीदवारों के समर्थन की बात कही है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें