एमपी अजब है: सजा सुनते ही भरी अदालत से दौड़ लगा गया रेप आरोपी

भोपाल ब्यूरो। मध्य प्रदेश में एक ऐसा मामला सामने आया है जिससे अदालतों में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सवाल उठ रहे हैं। यदि कोई मुजरिम सजा का एलान होने के बाद कोर्ट के कटघरे से छलांग लगाकर फरार हो जाए तो इसे लचर सुरक्षा व्यवस्था कहा जाए तो कोई आश्चर्य नहीं।

मध्य प्रदेश में बड़वानी की जिला अदालत में एक रेप आरोपी को पेश किया गया था। वह कटघरे में खड़ा था। अदालत में जज साहब से लेकर आरोपी और बचाव पक्ष के वकीलों के अलावा अदालत के कर्मचारी और रेप आरोपी को अदालत लेकर आये पुलिसकर्मी मौजूद थे।

इतने लोगों की मौजूदगी के बावजूद जब अदालत में रेप आरोपी को सजा सुनाई गयी तो उसने कटघरे से छलांग लगायी और भाग निकला। अदालत से फरार आरोपी का नाम विजय सोलंकी बताया गया है और उस पर इलज़ाम है कि उसने एक दस वर्षीय मासूम के साथ रेप किया था।

कोर्ट में सुनवाई के बाद विजय सोलंकी को दस वर्ष की सजा सुनाई गयी थी। सजा सुनते ही वह अदालत का कटघरे लांघकर भाग निकला और फरार हो गया। पुलिस के मुताबिक न्यायाधीश के निर्देश पर अदालत के मुंशी ने देर रात अपराधी सोलंकी के फरार होने की सूचना पुलिस को दी और प्राथमिकी दर्ज कराई।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें