एनएचएम में नौकरी दिलाने के नाम पर बड़ी ठगी, एक गिरफ्तार

अलीगढ़। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में नौकरी दिलवाने के नाम पर तीन लोगों से बड़ी ठगी किये जाने का मामला सामने आया है। नौकरी का झांसा देकर तीन लोगों से आठ आठ लाख रुपये लेकर ठगी करने के मामले में आरोपी वसी अहमद को पुलिस ने विभिन्न धाराओं में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पीड़ित तीन युवको अलीम, दानिश और तनवीर का आरोप है कि वसी अहमद, शादाब, लईक अहमद पुत्र शकील अहमद और शकील अहमद पुत्र अली अहमद ने उन्हें नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करते हुए आठ आठ लाख रूपए ऐंठ लिए।

वसी अहमद ने अपनी बात को पुख्ता करने के लिए तीनो बेरोज़गार युवको को बुलंदशहर के अस्पताल के कुछ कर्मचारियो से भी मिलाया। जो पहले से ही वसी अहमद के साथ मिले हुए थे। गौरतलब है कि वसी अहमद का भाई शादाब और सद्दाम शिकारपुर (बुलंदशहर) में स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत है।

अस्पताल कर्मियों ने भी वसी अहमद के दावों को सच बताते हुए एनएचएम में नौकरी होने की बात कही। जिससे तीनो बेरोज़गार युवको को वसी अहमद की बात पर भरोसा हो गया और तीनो युवको ने वसी अहमद को आठ आठ लाख रुपये दिए।

कुछ समय बीत जाते के बाद जब नौकरी के मामले में कोई प्रगति नहीं हुई तो पीड़ित तीनो युवको ने वसी अहमद पर दबाव बनाया जिसके बाद वसी अहमद ने तीनो युवको के नाम फ़र्ज़ी इंटरव्यू लेटर लाकर दिए और उन्हें लखनऊ इंटरव्यू देने के लिए भेजा। लखनऊ में एक व्यक्ति ने तीनो युवको का इंटरव्यू दिया और कुछ दिन बाद वसी अहमद ने तीनो युवको को फर्जी न्युक्ति पत्र भी दे दिए।

इन न्युक्ति पत्रों पर एनएचएम से जुड़े आला अधिकारीयों के हस्ताक्षर और मुहर भी लगी हुई थी। जब तीनो युवक अपने अपने न्युक्ति पत्र लेकर नौकरी ज्वाइन करने पहुंचे तो वसी अहमद के झूठ और ठगी का भांडा फूटा। न्युक्ति पत्र फ़र्ज़ी साबित होने के बाद पीड़ित तीनो युवक वसी अहमद से अपने पैसे वापस देने की मांग करते रहे लेकिन वो कोई न कोई बहाना बनाकर टालमटोल करता रहा।

इस मामले में काफी समय बीत जाने के बाद भी वसी अहमद की तरफ से कोई सकारत्मक जबाव नहीं मिलने पर तीनो युवक और उनके अभिभावक वसी अहमद को किसी तरह जमालपुर पुलिस चौकी ले आये। मामला प्रथम दृष्टया बड़ा प्रतीत होते ही जमालपुर चौकी इंचार्ज ने मामला थाना सिविल लाइन को भेज दिया।

सिविल लाइन थानाध्यक्ष विनोद कुमार ने इस मामले में आरोपी से कड़ी पूछताछ की जिसके बाद ठगी के आरोपी वसी अहमद ने कुबूल लिया कि उसने नौकरी लगवाने के लिए तीनो बेरोज़गार युवको से आठ आठ लाख रुपये लिए हैं। इस मामले में पीड़ित अलीम खान पुत्र शकील खान द्वारा दी गयी  तहरीर और पूछताछ में आरोपी वसी अहमद द्वारा कबुलात के आधार पर पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया है। इस मामले में अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें