एक्शन में शिवपाल: समाजवादी सेकुलर मोर्चे के 9 प्रवक्ता न्युक्त

लखनऊ। समाजवादी पार्टी से अलग हुए शिवपाल सिंह यादव ने अपनी नई पार्टी समाजवादी सेकुलर मोर्चे का कामकाज विधिवत शुरू कर दिया है। उन्होंने समाजवादी सेकुलर मोर्चे के लिए 9 प्रवक्ताओं के नामो की घोषणा की है।

जिन 9 लोगों को पार्टी का प्रवक्ता न्युक्त किया गया है उनमे सैयद शादाब फा​तिमा, दीपक मिश्र, नवाब अली अकबर, सुधीर सिंह, प्रोफेसर दिलीप यादव, अभिषेक सिंह आशू, मोहम्मद फरहत रईस खान और अरविंद यादव के नाम शामिल हैं।

कहा जा रहा है कि जिन लोगों को समाजवादी सेकुलर मोर्चे का प्रवक्ता बनाया गया है उन्हें कभी समाजवादी पार्टी में हाशिये पर धकेल दिया गया था और उन्होंने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के खिलाफ मोर्चा खोला था।

इससे पहले लखनऊ में श्रीकृष्ण वाहिनी के कार्यक्रम में पहुंचे शिवपाल यादव ने महाभारत का जिक्र करते हुए इशारों ही इशारों में अखिलेश यादव की तुलना कौरवों से कर दी। शिवपाल ने कहा कि पांडवों ने कौरवों से पांच गांव मांगा था। मैंने तो सिर्फ सम्मान ही मांगा था।

शिवपाल ने कहा कि वे समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के साथ आगे बढ़ेंगे. लंबे इंतजार के बाद यह कदम उठाया। अब कदम पीछे नही खीचेंगे. शिवपाल यादव ने कहा कि उन्होंने नेता जी (मुलायम सिंह यादव) से पूछ कर समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाया है। यह एक धर्मयुद्ध है, जिसमें जीत धर्म और सत्य की होती है। ये लड़ाई समाजिक परिवर्तन और न्याय की है।

शिवपाल यादव ने कहा कि साथ वही हैं जिनको मैंने ज्यादा नहीं दिया. मैं आपस में नहीं लड़ना चाहता था। हमारे लोग मेरे विरोधी की मदद कर रहे थे, बहुत से लोग बेईमानी से ले गए।

उन्होंने कहा कि कुछ लोग गलत काम करना चाहते थे। जो द्वार पर आए उसे कुछ मिलना चाहिए। मैंने श्री कृष्ण की तरह दे दिया, लेकिन वे सुदामा नहीं निकले।

शिवपाल ने कहा कि जो महान हुए हैं उन पर संकट पड़ा है। धर्म पर चलने वाले की कभी हार नही होती। अब तो कंस का नाम लेने से पता हो जाता है। आज भी कंस पैदा होते हैं. बहुत कंसहैं. रावण मारा गया और कंस भी मारा गया।

गौरतलब है कि श्रीकृष्ण वाहनी ने शिवपाल यादव का समर्थन किया है। शिवपाल यादव श्रीकृष्ण वाहनी समाजिक संस्था के संरक्षक हैं। वे श्रीकृष्ण वाहिनी के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि थे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *