एएमयू विवाद पर बोले बीजेपी के शत्रु “किसी की तस्वीर हटाने की क्या ज़रूरत”

पणजी। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के यूनियन हाल में पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर छिड़े विवाद पर बीजेपी सांसद और फिल्म अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि आजकल तस्वीरें हटाने की मांग क्यों की जा रही हैं।

बीजेपी सांसद ने एएमयू का नाम लिए बिना कहा, ‘‘अचानक से विश्वविद्यालयों का नाम बदलने और कुछ लोगों की तस्वीरों को हटाने की मांग होने लगी। उन्हें क्यों हटाया जाए? इतने सालों में वे वहीं थे और सब कुछ ठीक चल रहा था।’’

सिन्हा पणजी में ‘भारतीय अर्थव्यवस्था और लोकतंत्र के समक्ष चुनौतियां’ विषय पर व्याख्यान देने के लिए आए थे। इस कार्यक्रम का आयोजन स्थानीय समूह सिटिजन्स फॉर डेमोक्रेसी ने किया था।

भाजपा के पूर्व नेता यशवंत सिन्हा ने भी इस मौके पर अपनी बात रखी। सिन्हा ने कहा कि भाजपा को उन घटनाओं पर आत्मविश्लेषण करना चाहिए जिनमें गाय की रक्षा के नाम पर देश के विभिन्न हिस्सों में कुछ लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।

सिन्हा ने कहा कि हम इस समय देश में जिस आपातकाल का सामना कर रहे हैं, वह अघोषित आपातकाल है। यह एक धीमा जहर है, जो देश की राजनीति में घोला जा रहा है।

सिन्हा ने कहा कि इंदिरा गांधी का आपातकाल मौजूदा आपातकाल से अलग है। एक दिन उन्होंने देश में आपातकाल लगाने की घोषणा कर दी और विपक्ष के लोगों को जेल में डाल दिया गया। इसके साथ ही, मीडिया पर पाबंदी लगा दी गयी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें