एएमयू के दो कश्मीरी छात्र सहित कई अज्ञात लोगों पर राजद्रोह के मामले दर्ज

अलीगढ। अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के दो कश्मीरी छात्रों सहित कुछ अज्ञात छात्रों के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है। एएमयू स्कॉलर रहे आतंकी मन्नान वानी की पुलिस मुठभेड़ में मौत के बाद यूनिवर्सिटी केम्पस में नमाज़ ए जनाज़ा पढ़ने और देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में ये मामले दर्ज किये गए हैं।

सीसीटीवी फुटेज के जरिये अन्य आरोपियो की पहचान की जा रही है। आतंकी मन्नान वानी भी एएमयू का रिसर्च स्कॉलर था। उसके आतंकी बनने की खबर पर एएमयू ने उसे बर्खास्त कर दिया था।

पुलिस के मुताबिक कश्मीर में मुठभेड़ में मारे गए मन्नान वानी की खबर मिलने के बाद एएमयू के कुछ छात्रों ने देश विरोधी नारे लगाए तथा केम्पस में नमाज़ ऐ जनाज़ा अदा की गयी। थाना सिविल लाइंस के सब इंस्पेक्टर इसरार अहमद ने ऐसे छात्रों के खिलाफ राष्ट्रदोह का मुकदमा दर्ज कराया है।

जिन दो छात्रों पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है उनमे बायोकेमिस्ट्री से पीएचडी कर रहे वसीम अय्यूब मलिक पुत्र मुहम्मद अय्युब मलिक निवासी जिला शोपियां (जम्मू कश्मीर) और इतिहास से पीएचडी कर रहे अब्दुल हसीद मीर पुत्र मुहम्मद रजब मीर निवासी जिला कुलगाम (जम्मू कश्मीर) शामिल हैं।

पुलिस के मुताबिक अभी सीसी टीवी की फुटेज के आधार पर आरोपियों की शिनाख्त की जा रही है तथा कई अन्य छात्रों पर भी देशद्रोह का मामला दर्ज हो सकता है। हालाँकि एएमयू इन्जामिया इस बात से साफ़ इंकार कर रही है कि केम्पस में किसी तरह की नमाज़ ए जनाजा अदा की गयी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें