उत्तर प्रदेश और बिहार में उपचुनावों की तारीख का एलान

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने बिहार और उत्तर प्रदेश में होने वाले लोकसभा और विधानसभा उपचुनावों को लेकर तारीख का एलान कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश की दो लोकसभा सीटों फूलपुर और गोरखपुर तथा बिहार की एक लोकसभा सीट अररिया तथा दो विधानसभा सीटों के लिए 11 मार्च को उपचुनाव होंगे और 14 मार्च को मतगणना होगी

बिहार में जिन 2 विधानसभाओं के लिए उपचुनाव होना है उनमे भभुआ व जहानाबाद शामिल हैं। बिहार और उत्तर प्रदेश में होने जारहे उपचुनावों को योगी आदित्यनाथ और नीतीश कुमार के इम्तेहान के तौर पर देखा जा रहा है।

राजस्‍थान में हाल ही में हुए उपचुनावों में भाजपा को मिली हार के बाद पार्टी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है और पूरे देश की नजर इन दोनों राज्‍यों में होने वाले उपचुनावों पर टिकी है।राजस्‍थान उपचुनावों के नतीजे से उत्‍साहित कांग्रेस ने कहा था कि देश का मूड बदल रहा है। सियासी पार्टियां इन चुनावों को मिशन-2019 का सेमीफाइनल भी मान रही हैं।

फूलपुर और गोरखपुर योगी आदित्यनाथ के सीएम और केशव प्रसाद मौर्य के डिप्टी सीएम बनने के बाद इनके इस्तीफे से ये खाली हुई थीं जिसके बाद दोनों ही खाली सीटों पर 22 मार्च तक चुनाव कराए जाने थे। चुनाव आयोग ने शुक्रवार को यहां उपचुनाव के लिए तारीखों का ऐलान कर दिया है।

वहीं बिहार में भी लोकसभा की एक और विधानसभा की दो सीटों को लेकर आर-पार की लड़ाई देखने को मिलेगी। राजद सांसद तस्‍लीमुद्दीन के निधन के बाद अररिया लोकसभा सीट खाली हुई थी, जबकि जहानाबाद के राजद विधायक मुंद्रिका सिंह यादव और भभुआ के भाजपा विधायक आनंद भूषण पांडेय की मौत के बाद ये दोनों सीट रिक्‍त पड़ी थी।

चुनावों के लिए 13 फरवरी से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। 20 फरवरी तक उम्मीदवार नामांकन भर सकते हैं। 23 फरवरी नाम वापस लेने की आखिरी तारीख है। पिछले चुनाव में तीनों सीटों में से दो पर राजद का और एक पर भाजपा का कब्‍जा था।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें