उत्तर प्रदेश में फिर दिखी हिन्दू संगठनों की गुंडागर्दी, शादी रजिस्टर कराने आये दम्पति पर हमला

बिजनौर। उत्तर प्रदेश में एक बार फिर हिंदू संगठनों की गुंडागर्दी सामने आयी है । गुरूवार को शादी रजिस्टर्ड कराने कलक्ट्रेट पहुंचे एक प्रेमी युगल के साथ हिंदू संगठनों से जुड़े लोगों ने मारपीट कर हंगामा किया ।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हाथापाई व हंगामे की सूचना पर पुलिस भी वहां पहुंच गई और प्रेमी युगल को थाने ले गई। थाने में प्रेमी युगल द्वारा हाईकोर्ट का आदेश दिखाने के बाद पुलिस ने उन्हें छोड़ दिया। पुलिस सुरक्षा में युगल को छुड़वाया गया।

इस दौरान कलक्ट्रेट और थाने में काफी देर तक हंगामे की स्थिति बनी रही। इस दौरान हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं के साथ युवक का हाथापाई भी हुई। वहीं, बुर्का पहनें महिलाओं की  भी काफी देर तक नोंक झोंक हुई।

कस्बा जलालाबाद निवासी सुहेल नाम का युवक चंडीगढ़ में काम करता है। वहां से वह एक दूसरे संप्रदाय की युवती को ले आया। दोनों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में जाकर शादी कर ली। दोनों ने शादी का रजिस्ट्रेशन कराने के निर्देश दिए।

गुरूवार को बुर्का पहने एक युवती एक महिला के साथ कलेक्ट्रेट मेंरजिस्टेशन के कराने के लिए आई थी। बताया जा रहा है कि इस दौरान उसका प्रेमी भी यहां छुपकर खड़ा था। प्रेमी के परिचित भी कलक्ट्रेट में रजिस्ट्रेन के लिए सक्रिय थे।

वहीं, इस मामले की जानकारी किसी ने हिंदू संगठनों के लोगों को बता दिया अलग-अलग धर्म का एक प्रेमी युगल कलेक्ट्रेट में शादी रजिस्टर कराने आ रहे हैं। जिसके बाद हिंदू संगठनों के कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट पहुंचे और उन्होंने प्रेमी युवक के परिचितों के साथ मार पिटाई शुरू कर दी और बाद में उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया। बाद में संगठन के लोग प्रेमी को ढूंढने लगे पर वह नहीं मिला।

इसके बाद संगठनों के लोग बुर्का पहने प्रेमिका व एक महिला से उलझ पड़े। प्रेमिका की पुलिस से काफी नोंकझोंक हुई। काफी देर तक चले हंगामे के बाद प्रेमिका व दूसरी महिला और युवक के एक दोस्त को पुलिस अपन् साथ थाने ले गई। जहां प्रेमिका ने हाईकोर्ट से मिले शादी करने के कागजात दिखाए। बाद में पुलिस ने प्रेमिका और उसके साथ आई महिला को घर वापस भेज दिया।

शहर कोतवाल बिजेन्द्र पाल राणा के मुताबिक, युवती के पास हाईकोर्ट का आदेश था। आदेश में कहा गया था कि प्रेमी युगल को कोई दिक्कत नहीं आनी चाहिए।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *