उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश: अंतिम चरण का मतदान सम्पन्न, शुक्रवार को आएगा परिणाम

लखनऊ ब्यूरो। उत्तर प्रदेश में अंतिम चरण के निकाय चुनाव के लिए आज मतदान सम्पन्न हो गया। वोटों गिनती का काम 1 दिसंबर को होगा और उसी दिन परिणाम घोषित हो जायेंगे।

निकाय चुनावो के आखिरी चरण में जिन 26 जिलों में वोटिंग हुई उसमें अधिकांश जगहों से वोटरों ने वोटिंग लिस्‍ट से नाम गायब होने की शिकायत की। इसको लेकर कई जगह हंगामा भी हुआ।

तीसरे चरण में कुल 53 फीसदी मतदान हुआ है। राज्य निर्वाचन आयुक्त एसके अग्रवाल ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि इलाहाबाद नगर निगम में सबसे कम 30.47 फीसदी मतदान हुआ।

उन्होंने बताया कि पांच नगर निगम, 76 नगर पालिका परिषद और 151 नगर पंचायतों में 53 प्रतिशत मतदान हुआ जो कि 2012 के मुकाबले 6 प्रतिशत ज्यादा है। जबकि इस बार सभी 16 नगर निगमों में 41.26 प्रतिशत मतदान हुआ। तीन चरणों में सभी नगर पालिका परिषद में 58.15 और तीन चरणों में सभी नगर पंचायतों में 68.30 प्रतिशत मतदान हुआ।

निर्वाचन आयुक्त ने कहा कि 2012 में चुनाव में आपराधिक घटनाओं में 16 लोगों की मौत हुई थी। जबकि 2017 में एक भी मौत नहीं हुई है। उन्होंने इलाहाबाद के मतदान प्रतिशत पर निराशा जाहिर की और कहा कि जहां सबसे ज्यादा मतदान होना चाहिए था, वहीं सबसे कम हुआ।

वहीं, उन्होंने ईवीएम में गड़बड़ी होने की बात को सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि इसे लेकर गलत तरह का माहौल बनाया जा रहा है और जहां पर इस तरह की ‌शिकायतें आई हैं वहां तुरंत इस पर एक्‍शन लिया गया।

निकाय चुनावो के दौरान बड़ी तादाद में लोगों के नाम वोटरलिस्ट से गायब मिले। मुस्लिम बाहुल्य इलाको में खासतौर यह परेशानी सामने आयी कि या मतदाताओं के नाम वोटरलिस्ट से नदारद मिले या उनका पोलिंग बूथ बदल दिया गया।

समाजवादी पार्टी ने इस मुद्दे को उठाते हुए आरोप लगाया कि एक साजिश के तहत एक धर्म विशेष के लोगों के नाम वोटर लिस्ट से गायव हुए हैं। समाजवादी पार्टी ने इसे बड़ी साजिश करार दिया है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Facebook

Copyright © 2017 Lokbharat.in, Managed by Live Media Network

To Top