ईवीएम से वीवीपैट की पर्चियों को टेली करने की मांग को लेकर सुप्रीमकोर्ट पहुंची कांग्रेस

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा चुनावो को लेकर कांग्रेस एक एक कदम बहुत होशियारी से चल रही है। विधानसभा चुनाव में वीवीपेट वोटिंग मशीनों की औचक जांच का निर्देश निर्वाचन आयोग को देने की मांग करने वाली कांग्रेस नेता कमलनाथ ने सुप्रीमकोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया है।

कलमनाथ की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने अगले सप्ताह सुनवाई का समय तय किया है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने अपनी याचिका में सुप्रीमकोर्ट से अनुरोध किया है कि प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र में कम से कम 10 फीसदी मतदान केन्द्रों पर ईवीएम में पड़े मतों का मिलान वीवीपीएटी मशीनों की पर्ची के साथ करने का निर्देश निर्वाचन आयोग को दिया जाए।

कमलनाथ ने अपनी याचिका में कोर्ट से मतदाता सूची भी लिखित प्रारूप में उपलब्ध कराने का भी निर्देश देने का अनुरोध किया है। इससे पहले कांग्रेस मतदाता सूचियों में हेरफेर और फ़र्ज़ी मतदाताओं के नामो को लेकर चुनाव आयोग का दरवाज़ा भी खटखटा चुकी है।

विधानसभा चुनाव में वीवीपेट वोटिंग मशीनों की औचक जांच की यह याचिका चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष शुक्रवार को रखी गयी। पीठ ने कहा कि इसपर सुनवाई अगले सप्ताह की जाएगी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें